झारखंड : दो युवकों ने अपने 15 दोस्तों से की 47 लाख की ठगी

कोडरमा: तिलैया थाना क्षेत्र के अड्डी बंगला वार्ड संख्या 14, भालोटिया मोहल्ला निवासी दो युवकों पर उसके 15 दोस्तों ने 47 लाख 5 हज़ार रुपये की ठगी करने का आरोप लगाते हुए तिलैया थाना प्रभारी को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है।

अड्डी बंगला रोड निवासी आवेदनकर्ता अमित कुमार जायसवाल ने बताया कि भालोटिया मोहल्ला निवासी उनका दोस्त आशीष शर्मा एवं चंदन शर्मा बिग बाजार के सामने गणेश मार्केट में स्काई वर्ल्ड के नाम से कंप्यूटर इंस्टिट्यूट चलाते हैं।

दोनों ने उन्हें बताया कि उनको प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत काम मिल रहा है, जिसके लिए कंप्यूटर समेत अन्य उपकरण खरीदने के लिए तीन लाख 50 हज़ार रुपयों की आवश्यकता है।

इसे 6 माह के अंदर वापस कर दिया जाएगा और यदि निर्धारित समय अवधि के दौरान रुपया वापस नहीं कर पाया तो खाता संख्या 1220 प्लॉट संख्या 6791 अड्डी बांग्ला स्थित अपना जमीन और घर तुम्हारे नाम से केवाला कर देंगे।

इस आश्वासन के बाद अमित जायसवाल ने उन्हें तीन लाख 50 हज़ार रुपये इंतजाम करके दे दिया।

इसके अलावा दोनों लोगों के द्वारा उनके दुकान से दो लाख 50 हज़ार के कंप्यूटर समेत अन्य सामान उधार लिया गया।

पैसे वापस करने के लिए लिया गया समय जब समाप्त हो गया तो अमित जायसवाल के द्वारा रुपए की मांग की गई।

इस पर दोनों ने कहा कि 19 मई की शाम 7 बजे मेरे घर आकर अपना रुपया ले जाना।

इसके बाद जब अमित 19 मई की शाम उनके घर पहुंचा तो घर पर कोई नहीं था। घर के मुख्य दरवाजे पर ताला लटक रहा था।

जबकि घर के बाहर उनके जान पहचान के ही चार पांच लोग और खड़े थे।

उन लोगों ने बताया कि आशीष शर्मा एवं चंदन शर्मा ने उनसे भी लाखों रुपए लिए हैं और आज शाम हमें भी घर पर रुपए लेने के लिए बुलाया था।

इसके बाद जब उन लोगों ने अपने दोस्तों से पता लगाया तो पता चला कि आशीष शर्मा एवं चंदन शर्मा ने मिलकर चेक और एग्रीमेंट के माध्यम से 15 लोगों से पूंजी लगाने के नाम पर रुपया कर्ज लिया है और सभी को एक ही आश्वासन दिया है कि रुपया नहीं लौटा पाए तो उक्त खाता, प्लॉट संख्या के जमीन और घर का केवाला आपके नाम कर दिया जाएगा।

तिलैया पुलिस को दिए गए आवेदन में अमित जायसवाल ने कुल 6 लाख रुपये, वली रजा ने एक लाख 50 हजार, सोनू साव ने 7 लाख 75 हजार, सुमित कुमार सिंह ने एक लाख 95 हज़ार, विशाल ने 4 लाख 55 हजार, दीपक सिंह ने 4 लाख 70 हज़ार, मनोहर साव ने पांच लाख, उपेंद्र कुमार ने चार लाख, श्याम सिंह ने एक लाख 25 हज़ार, दीपक दास ने दो लाख, रंजीत यादव ने 90 हजार, चंदन सिंह एक लाख, राहुल सिंह ने एक लाख, पंकज कुमार ने 4 लाख 65 हजार एवं रवि यादव ने 80 हजार रुपए ठगने का आरोप लगाया है। उपरोक्त लोगों ने बताया कि 19 मई की शाम जब आशीष शर्मा एवं चंदन अपने घर पर नहीं मिले तो 21 मई की सुबह एक बार फिर से सभी उसके घर पहुंचे और अगल-बगल के लोगों से जानकारी ली तो पड़ोसियों से भी दोनों के संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली।

ठगी की शिकायत पुलिस से करने के बाद शनिवार को तिलैया थाना प्रभारी ने अभियुक्त के घर पहुंचकर आसपास के लोगों से पूछताछ की।

लेकिन इन्हें भी अभियुक्तों के संबंध में कोई ठोस जानकारी नहीं मिल पाई। दोनों आरोपियों के मोबाइल भी बंद हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button