झारखंड

बोकारो में घट रही कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या, 268 मरीजों की हुई मौत

बोकारो: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते प्रसार के बीच बोकारो जिले में कोरोना वायरस से अब तक कुल 18791 लोग संक्रमित हुए हैं। इनमें से 18057 मरीज स्वस्थ हुए हैं, जबकि 268 मरीजों की मृत्यु हुई है।

यदि विगत 05 दिनों की कोरोना रिपोर्ट की बात करें तो जिले में 25 मई को 60 लोगों का रिपोर्ट पॉजिटिव आया था, जबकि 225 मरीज स्वस्थ्य हुए थे।

वहीं, 02 मरीज की मौत हो गई थी। 26 मई को 64 लोगों का रिपोर्ट पॉजिटिव आया था, जबकि 202 लोग स्वस्थ हुए थे। वहींं, मरने वालों की संख्या शून्य थी ।

27 मई को 32 लोगों का रिपोर्ट पॉजिटिव आया था, जबकि 100 लोग स्वस्थ हुए थे। वहीीं, 01 मरीजों की मृत्यु हो गई थी।

28 मई को 37 लोगों का रिपोर्ट पॉजिटिव आया था , जबकि 157 लोग स्वस्थ हुए थेे। वहीं, मरने वालों की संख्या 01 थी।

29 मई को की देर रात आई रिपोर्ट में 31 लोगों का रिपोर्ट पॉजिटिव आया है, जबकि 96 लोग स्वस्थ हुए हैं। वहीं, मरने वालों की संख्या 00 है।

ऐसे में पिछले 05 दिनों में कोरोना से संक्रमित होने वाले मरीजों की संख्या 224 रही, जबकि कोरोना संक्रमण से 780 मरीज स्वस्थ्य हुए।

वहीं, पिछले पांच दिनों में कोरोना संक्रमण के कारण 04 लोगों की मृत्यु हुई है। कोरोना महामारी का प्रकोप अब जिले में धीमा पड़ने लगा है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों व आंकड़ों की माने तो जिले में दूसरी लहर का पीक गुजर गया है। इसपर सिविल सर्जन डॉ अशोक कुमार पाठक की माने तो फिलहाल यह कहना जल्दबाजी होगी।

उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों से नए मामलों में कमी जरूर आई है। ऐसे में सावधानी बरतने की जरूरत है। थोड़ी सी भी लापरवाही घटते मामलों को एक बार फिर से गति दे सकती है।

इसलिए जरूरी है कि सभी लोग मास्क पहनने के साथ-साथ शारीरिक दूरी जैसे नियमों का गंभीरता से पालन करें।

साथ ही उन्होंने अधिक से अधिक लोगों से टीका लगवाने की अपील किया तथा कहा कि कोविड-19 की लहर रोकने में भी यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है।

इसके साथ ही उन्होंने मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंस का पालन करना तथा बार-बार हाथ धोने को कोविड-19 महामारी रोकने में कारगर हथियार बताया।

विगत पाँच दिनों में यथा 25 से 29 मई तक जिले में कोरोना संक्रमित मरीज, स्वस्थ मरीज तथा मृतकों की संख्या का तुलनात्मक विश्लेषण जिले के लिए या सकारात्मक संकेत है कि पॉजिटिव मरीजों की तुलना में कोरोना संक्रमण से स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या निरंतर बढ़ रही है।

Back to top button