गेंदबाजी की गुणवत्ता से निराश हुए कोहली

चेन्नई: भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले मैच में मिली हार के बाद गेंदबाजी की गुणवत्ता और स्पिनर शाहबाज नदीम तथा वाशिंगटन सुंदर की गेंदबाजी पर निराशा व्यक्त की है।

भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई टेस्ट के पांचवें दिन मंगलवार को 227 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

 इंग्लैंड ने इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहली कप्तान जो रूट की 218 रनों बेहतरीन पारी की बदौलत 578 रन का स्कोर खड़ा किया था।

इंग्लैंड ने टीम इंडिया को 420 रनों का लक्ष्य दिया लेकिन भारत की दूसरी पारी 192 के स्कोर पर ऑलआउट हो गयी।

कोहली ने मैच के बाद कहा, यहां की पिच सपाट और धीमी थी।

ईमानदारी से कहूं तो गेंदबाजी की गुणवत्ता ऐसी नहीं थी जिससे हमें फायदा मिले। ऐसा पहले भी हो चुका है।

टेस्ट क्रिकेट में 60 ओवर बाद ही गेंद का खराब होना किसी भी टीम के लिए अच्छा नहीं है और किसी भी टीम को इसका अनुभव नहीं होगा।

पहले दो दिन हमारे साथ ऐसा ही हुआ लेकिन हम कोई बहाना नहीं दे सकते।

इंग्लैंड ने हमसे बेहतर खेल का प्रदर्शन किया और वह जीत के हकदार थे।

कोहली से पहले टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने भी सोमवार को गेंद को लेकर शिकायत की थी।

कोहली ने कहा कि इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह और अश्विन ने जहां अच्छी गेंदबाजी की वहीं नदीम और सुंदर ने काफी रन लुटाए।

कप्तान ने कहा, तेज गेंदबाजों और अश्विन की बात करें तो इन्होंने अच्छे विभाग में गेंदबाजी की।

लेकिन मेरे ख्याल से सुंदर और नदीम अगर बेहतर गेंदबाजी करते और दबाव बनाते तो हालात अलग हो सकते थे।

इससे इंग्लैंड 80 से 90 रन कम बना पाता।

इसके अलावा बल्लेबाजी में भी देखें तो पहली पारी में हम अगर 70-80 रन ज्यादा बनाते तो मामला नजदीकी हो सकता था।

Back to top button