भारत

…और बैरिकेड गिराते हुए ट्रैक्टर लेकर कलेक्ट्रेट के अंदर पहुंचे किसान, फिर…

टिकैत ने कहा कि बिना डर के कोई आंदोलन हो रहा है क्या? सरकार भी डर बैठा रही है। वह ईडी का डर बैठा रही है और हम ट्रैक्टर का। दिल्ली नजदीक है और पंजाब दूर है, इसलिए हम यहां पर ट्रैक्टर चला रहे हैं। यह दिल्ली जाने का ट्रायल है।

Kisan Aandolan: उत्तर प्रदेश के किसान भी धीरे-धीरे आंदोलनरत किसाने के रास्ते पर आगे बढ़ रहे हैं। बुधवार को भारतीय किसान यूनियन (BKU) ने अपनी मांगों को लेकर अलग-अलग जिलों में विरोध-प्रदर्शन किया।

इसी कड़ी में मेरठ कलेक्ट्रेट पर भी जबरदस्त तरीके से विरोध प्रदर्शन किया गया। इस विरोध-प्रदर्शन की अगुवाई खुद किसान नेता राकेश टिकैत ने की। उनकी अगुवाई में सैकड़ों किसानों ने ट्रैक्टर लेकर DM ऑफिस की तरफ कूच किया।

कई किसान बैरिकेड गिराते हुए ट्रैक्टर लेकर कलेक्ट्रेट के अंदर तक पहुंच गए। इसकारण कलेक्ट्रेट का माहौल बेहद गरमा-गरम माहौल बन गया।

विरोध-प्रदर्शन के दौरान ट्रैक्टर चलाते हुए टिकैत ने कहा कि हमारा यह विरोध-प्रदर्शन देश भर में जिला मुख्यालयों में चल रहा है। अभी संयुक्त किसान मोर्चा की मीटिंग में तय होगा कि हमें दिल्ली जाना है या नहीं। या फिर किसी और तरीके से प्रदर्शन करना है।

बकौल टिकैत, वे अगर हमारे लिए कील लगाएंगे तब हम भी अपने गांव में कील लगा देने वाले हैं। हमें भी अपने गांव की बैरिकेडिंग करनी होगी। दिल्ली नहीं आने दे रहे तब चुनाव में हम भी उन्हें गांव नहीं आने देने वाले हैं। आंदोलन को कुचलने का काम होगा, तब उन्हें गांव में कौन आने देगा? कील गांव में भी है।

टिकैत ने कहा कि बिना डर के कोई आंदोलन हो रहा है क्या? सरकार भी डर बैठा रही है। वह ईडी का डर बैठा रही है और हम ट्रैक्टर का। दिल्ली नजदीक है और पंजाब दूर है, इसलिए हम यहां पर ट्रैक्टर चला रहे हैं। यह दिल्ली जाने का ट्रायल है।

x