क्राइम ब्रांच के पास पहुंचा सुशील का मामला, इन सवालों के देने होंगे जवाब

नई दिल्ली: सागर पहलवान की हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस ने सुशील पहलवान को छह दिन की रिमांड पर लिया है।

यह मामला अब क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर हो गया है।इसलिए रिमांड पर पूछताछ भी क्राइम ब्रांच के जरिए की जाएगी।

पुलिस सुशील से न केवल हत्याकांड को लेकर बल्कि फरारी के दौरान मदद करने वालों को लेकर भी जांच करेगी।

इसके अलावा वारदात में सुशील के साथ मौजूद रहे उसके साथियों की भी तलाश करेगी।

जानकारी के अनुसार, बीते चार मई को छत्रसाल स्टेडियम पर हुई सागर पहलवान की हत्या के मामले में सुशील मुख्य आरोपित है। मॉडल टाउन थाने में एफआईआर दर्ज होते ही वह फरार हो गया था।

करीब 18 दिन तक फरार रहने के बाद सुशील को स्पेशल सेल ने रविवार सुबह उसके साथी अजय सहित मुंडका से गिरफ्तार किया था।

हत्या के इस मामले में कोर्ट ने सुशील को छः दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है।

पुलिस कमिश्नर के आदेश पर इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई है।

सोमवार से इस मामले की जांच क्राइम शुरू करेगी और सुशील से हत्याकांड को लेकर पूछताछ करेगी।

रिमांड पर सुशील से होगी यह पूछताछ

पुलिस सूत्रों की माने तो हत्या के इस मामले में सुशील से पूछा जाएगा कि सागर से उसका विवाद कब से चल रहा था।

सागर की पिटाई के लिए असोदा गैंग से उसने मदद क्यों ली ? वह इन गैंगस्टर को कैसे जानता है ? वारदात में उसके साथ कौन-कौन लोग शामिल थे ? वारदात के दौरान उसने पिटाई का वीडियो क्यों बनाया था ? पिटाई में इस्तेमाल किया गया डंडा उसने कहां छिपाया ? और फरारी के दौरान किन-किन लोगों से उसकी मदद की।

पुलिस टीम उसे छत्रसाल स्टेडियम पर भी ले जाएगी जहां वारदात हुई थी।

उससे यह जानने का प्रयास किया जाएगा कि पूरा घटनाक्रम कैसे हुआ था।

यह भी जानने की कोशिश की जाएगी कि वह छत्रसाल स्टेडियम में किस तरह की गतिविधियां चला रहा था।

क्या वह पहलवानों का इस्तेमाल लोगों को धमकाने के लिए करता था।

इन सवालों के जवाब रिमांड अवधि के दौरान सुशील से लिये जाएंगे। इसके अलावा उसकी निशानदेही पर वारदात में शामिल अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी भी की जाएगी।

पुलिस के पास सुशील के खिलाफ महत्वपूर्ण साक्ष्य

पुलिस सूत्रों का कहना है कि उनके पास इस वारदात में सुशील के शामिल होने के महत्वपूर्ण साक्ष्य हैं।

हत्या का सबसे बड़ा साक्ष्य वह वीडियो है जिसमें सागर की पिटाई हो रही है। पुलिस ने एफएसएल से इस वीडियो की जांच भी करवा ली है।

वहां से रिपोर्ट आ चुकी है कि यह वीडियो सही है और इससे कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है।

वारदात के दो चश्मदीद सोनू महाल और अमित हैं जो पिटाई से घायल हुए थे।

घटनास्थल पर सुशील की मौजूदगी के साक्ष्य भी पुलिस के पास हैं।

पहले गिरफ्तार हो चुके आरोपित प्रिंस ने भी सुशील का नाम लिया था।

हालांकि इन साक्ष्य के साथ सुशील का अपराध कोर्ट के समक्ष पुलिस को साबित करना पड़ेगा।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button