राकेश टिकैत ने सरकार से की आंदोलनरत किसानों से बातचीत की मांग

नई दिल्ली: केन्द्र सरकार की ओर से तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा के बावजूद आंदोलनरत किसान दिल्ली की सीमाओं पर जमे हुए हैं।

ऐसे में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने सरकार से किसानों से बातचीत की मांग की है।

किसान नेता टिकैत ने इस मुद्दे पर बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि भारत सरकार को आंदोलन कर रहे किसानों से बातचीत करनी चाहिए।

जिससे मामले का समाधान निकाला जा सके। उन्होंने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि अभी तक सरकार ने आंदोलन कर रहे किसान संगठनों से बातचीत नहीं की है।

जबकि किसान संगठन सरकार से बातचीत करना चाहते हैं। इसीलिए संगठन को ओर भारत सरकार को पत्र लिखकर अनुरोध किया गया है कि सरकार किसानों से बात करे लेकिन केन्द्र की ओर से अभी कोई जवाब नहीं आया है।

टिकैत ने कहा कि 29 नवंबर से संसद का शीतकालीन सत्र शुरु हो रहा है। सत्र में किसानों के मुद्दे गंभीरता से उठाया जाए इसके लिए एक हजार किसान सत्र के पहले दिन 60 ट्रैक्टर पर सवार होकर संसद की ओर कूच करेंगे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button