अब सेकेंडों में बुक होगा रेल टिकट, टिकट रद्द कराने पर तुरंत वापस आयेगा पैसा

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत और डिजिटल इंडिया विजन के मद्देनजर रेल मंत्रालय की इकाई भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने अपनी वेबसाइट को अपग्रेड करने के साथ ही भुगतान गेटवे ‘आईआरसीटीसी-आईपे’ भी शुरू किया है।

इससे टिकट आरक्षित करने की प्रक्रिया के दौरान बैंक के भुगतान गेटवे में लगने वाले समय की बचत होगी, जिससे पलक झपकते ही अर्थात कुछ सेकेंडों में टिकट आरक्षित हो जाएगा।

इतना ही नहीं टिकट रद्द कराने पर उसका रिफंड भी तुरंत उसके खाते में चला जाएगा।

आईआरसीटीसी ने गुरुवार को बताया कि टिकट बुकिंग सुविधा को आसान बनाने के लिए रेलवे की इंटरनेट टिकट वेबसाइट www.irctc.co.in के अपने यूजर इंटरफेस को अपग्रेड किया गया है।

इंटरनेट टिकटिंग वेबसाइट एशिया पैसिफिक की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स वेबसाइटों में से एक होने के अलावा भारतीय रेलवे के कुल आरक्षित टिकटों का 83 प्रतिशत बुक करती है।

यात्रियों के लिए टिकट बुकिंग के अनुभव को एक कदम आगे बढ़ाते हुए, आईआरसीटीसी ने “आईआरसीटीसी आईपे” के उपयोग के तहत, आईआरसीटीसी वेबसाइट एवं मोबाइल एप उपयोगकर्ताओं को तत्काल पैसा वापसी का एक नया फीचर शुरू किया है।

आईआरसीटीसी ने अब अपने भुगतान गेटवे “आई-पे” को “ऑटोपे” फीचर से लैस कर दिया है।

इस सुविधा में एक उपयोगकर्ता को अपने यूपीआई बैंक खाते और अन्य भुगतान साधन के लिए डेबिट के लिए एक अनिवार्य सुविधा के माध्यम से सिर्फ एक बार अनुमति देनी होती है जो उसके भुगतान उपकरण को अधिकृत कर देती है।

ऑटोपे सुविधा पूर्व-अधिकृत होने के कारण टिकट बुकिंग की उच्च विश्वसनीयता सुनिश्चित करती है क्योंकि यह भुगतान साधन उपकरण विवरण में उपयोगकर्ता के समय को कम करता है।

यह सुविधा तत्काल बुकिंग के लिए रिफंड समय को कम करने के लिए भी है, जो प्रतीक्षा सूची में है और ऑटो रद्द होने को आकर्षित भी करता है।

इस दौरान उपयोगकर्ता के बैंक खाते से टिकट के लिए धनराशि आरक्षित हो जाती है और पूरी बुकिंग राशि के लिए तभी विकलन (डेविट) प्राप्त की जाती है जब कन्फर्म टिकट बुक हो जाता है।

जहां अंतिम चार्ट तैयार करने के बाद भी बुकिंग वेटिंग सूची में रहती है वहां केवल रद्दीकरण शुल्क वसूला जाता है।

यह सुविधा उन मामलों में सबसे अधिक उपयोगी है जहां उपयोगकर्ता के बैंक से भुगतान में कटौती के बाद भी टिकट बुक नहीं होती है या तत्काल टिकट प्रतीक्षा सूची में रहता है, चार्ट तैयार करने के बाद भी प्रतीक्षा सूची से बाहर रखा जाता है और प्रतीक्षा सूची से टिकट हटा दिया जाता है।

ऐसे मामलों में केवल आईआरसीटीसी सेवा शुल्क, रद्दीकरण शुल्क और भुगतान गेटवे शुल्क उपयोगकर्ता के खाते से काटे जाएंगे।

यह उन ग्राहकों को वित्तीय स्वतंत्रता देता है जो आईआरसीटीसी से अपने बैंक खाते में धनवापसी राशि के क्रेडिट की चिंता किए बिना उसी दिन या अगले दिन बुकिंग करना चाहते हैं।

Back to top button