बिहार

नीतीश कुमार के रहते लागू नहीं होगा NRC और CAA: सलीम परवेज

जदयू समाजिक समरसता एवं भाईचारे पर विश्वास करती है, जाति धर्म लिंग का कोई भेदभाव यहां नहीं-सलीम परवेज

बेगूसराय: जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सलीम परवेज (Salim Parvez) ने कहा है कि कुरान के साथ-साथ भारतीय संविधान भी पढ़ें, जब तक नीतीश कुमार हैं तो दुनियां की कोई ताकत NRC और CCA लागू नहीं कर सकता है।

सलीम परवेज हे ने कहा कि जदयू समाजिक समरसता एवं भाईचारे पर विश्वास करती है, जाति धर्म लिंग का कोई भेदभाव यहां नहीं है। समाजिक सदभाव के लिए ऐसी राजनीतिक सोच और दृष्टि जरूरी है।

मंगलवार को बेगूसराय जिला जदयू कार्यालय के कर्पूरी सभागार में अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हम एक दूसरे की भावना को समझते हैं और उसका सम्मान करते हैं। हमारे सर्वमान्य नेता नीतीश कुमार के नेतृत्व में विभिन्न धर्म सम्प्रदाय जातियों के लोग एक साथ प्रेमभाव से रहते हैं।

धर्म के नाम पर कटुता फैलाकर माहौल बिगाड़ने वालो तत्वों से सावधान रहने की जरूरत

लेकिन समाज मे कुछ ऐसे भी लोग हैं जिनकी सोच नकारात्मक होती है, ऐसे लोग नहीं चाहते हैं कि समाज का विकास हो, वह कलह (Discord) और अशांति फैलाने के फिराक में रहते हैं।

जाति के नाम पर, धर्म के नाम पर कटुता फैलाकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश करते हैं, ऐसे तत्वों से सावधान रहने की जरूरत है।

सलीम परवेज ने कहा कि नीतीश कुमार ने पूरी दृढ़ता एवं संकल्प के साथ सम्प्रदायिक सदभाव और समाजिक सौहार्दपूर्ण बनाए रखने के लिए अल्पसंख्यक समुदाय को उचित भागीदारी दी है।

शिक्षा एवं रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण, मदरसा आधुनिकीकरण, उर्दू भाषा का विकास, उर्दू शिक्षकों की नियुक्ति, कब्रिस्तान की घेराबंदी, अल्पसंख्यक ऋण योजना, मुख्यमंत्री श्रम शक्ति योजना, बिहार राज्य अल्पसंख्यक आयोग,

वक्फ बोर्ड, बिहार राज्य हज कमिटी, जिला स्तर पर Minority Students के लिए छात्रावास एवं पढ़ने की समुचित व्यवस्था संचालित है।

बैठक की अध्यक्षता मटिहानी विधायक राजकुमार सिंह एवं संचालन अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के निवर्तमान अध्यक्ष इस्लाम नदीम ने किया।