रांची के बड़े जमीन कारोबारी से मिलकर मुकेश झा को रास्ते से हटाने का बनाया था प्लान, बिहार से दो शूटर गिरफ्तार

रांची: नामकुम थाना क्षेत्र के काली नगर आरओ वाटर प्लांट के समीप बीते 19 दिसंबर को फायरिंग मामले में पुलिस ने बिहार के छपरा से दो शूटरों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस सूत्रों ने शनिवार को बताया कि गिरफ्तार शूटरों में छोटेलाल राय और शैलेश कुमार शामिल है। दोनों बिहार के छपरा बनियापुर के रहने वाले हैं।

शूटरों ने पुलिस पूछताछ में कई बातों का खुलासा किया है। जमीन कारोबारी मुकेश झा की हत्या की नियत से गोली चलाईं गई थी ।

हत्या के लिए 5 लाख की सुपारी दी गई थी। इसमें 20 हजार एडवांस दिया गया था।

हत्या के पिछे 24 जनवरी से लापता नीरज झा और रांची के एक बड़े जमीन कारोबारी का हाथ है , जिसमें आपराधिक प्रवृत्ति का सुधीर सोम उर्फ टप्पू सहित छह से अधिक लोग शामिल हैं।

पुलिस ने पूर्व में हत्या की साज़िश में शामिल तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

दोनों शूटर काले रंग की बिना नंबर की यामहा एफ जेड बाइक से घटनास्थल पहुंचे थे, जहां पहले से बैठे मुकेश झा को टारगेट कर तीन फायरिंग की थी।

फायरिंग के बाद दोनों कार से रामगढ़ पहुंचे और वहां से बस पकड़कर छपरा फरार हो गए थे। गोलीकांड में मुकेश झा के बाह व जांघ में , रंजीत सिंह उर्फ बंगाली और प्रवीण कुमार को हाथ में गोली लगी थी।

शूटरों ने पुलिस को बताया कि मुकेश झा और नीरज झा जमीन कारोबारी है।

जमीन विवाद को लेकर दोनों में आपसी रंजिश चल रही है। नीरज झा ने रांची के बड़े जमीन कारोबारी से मिलकर मुकेश झा को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया था।

वहीं फायरिंग का मुख्य आरोपी नीरज झा 24 जनवरी से लापता है।

गिरफ्तार शूटरों की पहचान फायरिंग में घायल तीनों ने की है।

वहीं नीरज झा का लगभग 20 दिन बाद भी सुराग नहीं मिलने से पुलिस असंजस की स्थिति में है।

थाना प्रभारी प्रवीण कुमार ने बताया कि विभिन्न बिंदुओं और तकनीकी शाखा की सहायता से नीरज की तलाश की जा रही है।

Back to top button