रांची में कई प्रखंडों में पंचायत टास्क फोर्स की टीम, सर्वे और जांच के लिए घर-घर पहुंची

रांची: जिले के ग्रामीण इलाकों में गुरुवार से व्यापक तरीके से कोरोना संक्रमण के रोकथाम की शुरुआत कर दी गई है।

कोविड संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए गहन सर्वे और जांच का कार्य पंचायत स्तर से शुरू हो चुका है।

रांची जिला के विभिन्न प्रखंडों में पंचायत टास्क फोर्स की टीम, सर्वे और जांच के लिए घर-घर पहुंच रही है।

इस टीम में सहिया, आंगनबाड़ी सेविका, एएनएम, जेएसएलपीएस की सखी मण्डल, महिला स्वयं सहायता समूह की दीदी हैं।

टीम की ओर से घर के सभी सदस्यों का तापमान थर्मल स्कैनर तथा थर्मामीटर से नोट किया जा रहा है।

साथ ही 40 वर्ष से ऊपर के व्यक्ति का ऑक्सीजन की भी माप की जा रही है।

टीम कर रही है टेस्टिंग

सर्वे के दौरान किसी व्यक्ति में कोविड के लक्षण पाए जाने या उस परिवार में कोई भी सदस्य कोविड संक्रमित मिलने पर टीम द्वारा तुरंत रैपिड एंटीजन टेस्ट किट द्वारा जांच की जा रही है।

गांव में किसी परिवार में कोई सदस्य प्रवासी है या परिवार में पिछले एक महीने में किसी की मृत्यु हुई है तो घर के सभी सदस्यों का टेस्ट टीम द्वारा किया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि रांची जिला के गांव में कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए कम्युनिकेशन प्लान बनाया गया है।

इसके तहत पंचायत स्तर पर रैपिड एंटीजन टेस्ट के लिए दो अलग-अलग टीमें गठित की गई है।

एक टीम घर-घर सर्वे और जांच कर संक्रमित की पहचान कर उन्हें कोविड केयर सेंटर या होम आइसोलेशन में रखने का कार्य कर रही है।

टीम को जांच के बाद गंभीर लक्षण वाले संक्रमित व्यक्ति को एंबुलेंस से अस्पताल भेजने का निदेश दिया गया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button