भारत

कोरोना का नया वेरिएंट चिंताजनक नहीं, कोरोना की चौथी लहर आएगी इसकी उम्मीद नहीं?

आने वाले दिनों में बहुत ज्यादा वृद्धि की आसार नहीं है

नई दिल्ली: कोरोना (Corona) संक्रमण की दर फिलहाल स्थिर है और नए चिंताजनक वेरिएंट सामने नहीं आने के कारण यह उम्मीद किया जा रहा है कि कोरोना संक्रमण से स्थिति गंभीर नहीं होगी।

आने वाले दिनों में बहुत ज्यादा वृद्धि की आसार नहीं है। बात से सरकार को भी राहत मिली है।

नये संक्रमण

मंत्रालय के द्वारा दी गई सूचना के अनुसार नए संक्रमितओं में गंभीर मामले बहुत कम दिखाई दे रहे हैं। ज्यादातर संक्रमित 5-7 दिनों में ठीक हो रहे हैं।

अस्पताल में भर्ती की दर 1 फ़ीसदी से भी नीचे है। कुछ राज्यों में भले ज्यादा हो लेकिन राष्ट्रव्यापी आंकड़ों के अनुसार देश में सक्रिय मरीजों की कुल संख्या 20635 दर्ज की गई है। इनमें से ज्यादातर संक्रमित घरों में इलाजरत हैं।

नया चिंताजनक वेरिएंट नहीं

चिकित्सा विशेषज्ञों का मानना है कि अभी देश में प्रसार में सबसे ज्यादा ओमीक्रोन ही है।

इनमें ज्यादातर ओमीक्रोन के उप वेरिएंट हैं, जो संक्रामक तो हैं लेकिन ओमीक्रोन (Omicron) का बड़े पैमाने पर संक्रमण पहले होने के कारण उसका ज्यादा दुष्प्रभाव नहीं हो रहा है। डेल्टा के मामले बेहद सीमित हैं