विजय मशाल जुलूस पहुंचा रांची, सेना के जवानों ने किया स्वागत

विजय मशाल जुलूस को पहुंचते ही सेना के जवानों ने भारत माता की जय के नारे लगाए

रांची: देश के विभिन्न राज्यों का सफर पूरा करते हुए विजय मशाल जुलूस गुरुवार को राजधानी रांची पहुंचा।

बूटी मोड़ स्थित झारखंड वॉर मेमोरियल में दीपाटोली कैंट के कोकरल डिविजन के सेना के सीनियर अधिकारियों ने विजय मशाल जुलूस का स्वागत किया।

विजय मशाल जुलूस को पहुंचते ही सेना के जवानों ने भारत माता की जय के नारे लगाए। 12 नवंबर को विजय मशाल जुलूस पूरे शहर में घुमाया जायेगा।

इस दौरान बच्चों के बीच स्वर्णिम विजय वर्ष के संबंध में जानकारी देने के लिए पंपलेट का वितरण किया जायेगा।

दूसरी ओर 13 नवंबर को दीपाटोली कैंट के हेलीपैड में भारतीय सेना के हथियारों की प्रदर्शनी भी लगायी जायेगी।

उसके बाद 14 नवंबर को विजय मशाल झारखंड से देश की राजधानी दिल्ली के लिए रवाना हो जायेगा।

वर्ष 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के विजय के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में पूरे भारत में स्वर्णिम विजय वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है।

भारतीय सेना के जज्बे को दिखाने और युवाओं के सेना के प्रति प्रेरित करने के लिए विजय मशाल पूरे देश में घुमाया जा रहा है। उसी क्रम में चार स्वर्णिम विजय मशाल पूर्वी भारत के विभिन्न राज्यों में भेजा गया।

उल्लेखनीय है कि भारत-पाकिस्तान युद्ध 1971 की याद में बीते 16 दिसंबर, 2020 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली के नेशनल वार मेमोरियल से विजय मशाल जुलूस भारत भ्रमण के लिए रवाना किया था

पाकिस्तान पर भारत की 1971 में जीत की 50वीं सालगिरह के मौके पर यह स्वर्णिम विजय मशाल जुलूस निकाली गई है। यह विजय मशाल ओडिशा के रास्ते सात नवंबर को जमशेदपुर पहुंची थी।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button