शीना बोरा मर्डर कांड पर बनी वेब सीरीज कल होनी थी रिलीज, मगर हाई कोर्ट ने…

News Aroma Desk

Bombay High court: वेब सीरीज ‘The Indrani Mukherjee Story‘ गुरुवार को रिलीज होनी थी। लेकिन, बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) ने रिलीज से पहले ही इस वेब सीरीज की स्क्रीनिंग पर रोक लगा दी है। गौरतलब है कि यह वेब सीरीज मुंबई के बहुचर्चित शीना बोरा मर्डर केस पर बनी है।

Bombay High court ने इस वेब सीरीज के प्रदर्शन पर रोक लगाकर Netflix को झटका दिया है।

मालूम हो कि इस वेब सीरीज के प्रदर्शन को रोकने के लिए CBI ने Bombay High Court का दरवाजा खटखटाया था। सीबीआई इस केस पर किसी भी तरह की वेब सीरीज नहीं चाहती है। ऐसे में अब हाई कोर्ट ने नेटफ्लिक्स को गुरुवार को रिलीज होने वाली इस वेब सीरीज की स्क्रीनिंग रोकने का आदेश दिया है। इससे नेटफ्लिक्स मुसीबत में है।

हाई कोर्ट ने Netflix को CBI अधिकारियों और वकीलों के लिए वेब सीरीज की विशेष स्क्रीनिंग आयोजित करने का आदेश दिया। न्यायमूर्ति रेवती मोहिते-डेरे और न्यायमूर्ति मंजूश देशपांडे की पीठ के समक्ष सुनवाई हुई। CBI ने कहा है कि यह वेब सीरीज मामले के अभियोजन को प्रभावित कर सकती है।

इस वेब सीरीज की स्पेशल स्क्रीनिंग के बाद 29 फरवरी यानी अगले हफ्ते मामले की सुनवाई होगी। इस वेब सीरीज मामले में CBI की ओर से दायर याचिका पर Bombay High court में सुनवाई के दौरान CBI ने कहा कि वेब सीरीज के रिलीज होने से केस कमजोर हो सकता है और गवाह प्रभावित हो सकते हैं। इंद्राणी मुखर्जी शीना बोरा हत्याकांड में आरोपी हैं। शीना हत्यारोपित इंद्राणी मुखर्जी की बेटी थी। इस मामले में इंद्राणी मुखर्जी को 2015 में गिरफ्तार किया गया था।

मामले की जांच CBI कर रही है। शीना बोरा मर्डर केस में 237 गवाह हैं और अब तक 78 गवाहों की गवाही हो चुकी है। CBI ने दलील दी है कि अगर यह वेब सीरीज प्रसारित हुई तो इसका असर बाकी गवाहों पर पड़ सकता है। वहीं Netflix के वकील ने कहा कि ये कोई वेबसीरीज नहीं बल्कि एक डॉक्यूमेंट्री है। सामग्री केवल गवाहों के आधार पर दिखाई जाती है।

यह दलीलें सुनने के बाद High Court ने मामले से जुड़े सभी गवाहों की सूची मांगी है। हाई कोर्ट जानना चाहता है कि यह किस तरह का गवाह है। अब यह देखना अहम होगा कि 29 फरवरी को High Court क्या फैसला सुनाएगा।

हमें Follow करें!