भोजपुरी गीतों में हीरो बने योगी, सोशल मीडिया पर भी मची धूम

लखनऊ: भोजपुरी गीतों में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इन दिनों हीरो बने हुए है। मशहूर भोजपुरी फिल्म अभिनेता एवं गायक दिनेश लाल यादव निरहुआ के गाए हुए यूपी के बच्चा-बच्चा फरमाइश में योगी, अइहें 22 में योगी जी, 27 में भी योगी जी गीत ने सोषल मीडिया पर धूम मचा रखी है।

उनके इस गाने पर सपा समर्थकों और भाजपा समर्थकों ने सोशल मीडिया पर मिलीजुली प्रतिक्रिया भी दी है। अभिनेता दिनेष लाल निरहुआ ने वर्ष 2019 में सपा मुखिया अखिलेष यादव के खिलाफ चुनाव लड़ चुके हैं। तभी से वह भाजपा के प्रचार में लगातार रहते हैं। इसस पहले भी वह दो गीत बना चुके हैं। जो कि सोशल मीडिया पर बहुत हिट हुए है।

निरहुआ ने यह गीत अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट भी किया है। इस गीत को उन्होंने मुख्यमंत्री योगी की छवि और उनकी उपलब्धियों को आधार बनाकर गाया है। इस गीत में निरहुआ दावा करते हैं कि योगी आदित्यनाथ 2022 में भी सत्ता में आएंगे और वर्ष 2027 में भी सत्ता में आएंगे।

उन्होंने गीत शुरूआत करते हुए कहा है कि गद्दारों के सीने में चोट करेंगे, जो राष्ट्रवादी हैं वह योगी जी को ही सपोर्ट करेंगे। पहले भी किया था और आने वाले समय में भी कमल के निशान पर ही वोट करेंगे। निरहुआ के गाने में आगे बोल हैं,यूपी के बच्चा-बच्चा के फरमाइश में योगी जी, अइहें 22 में योगी जी, 27 में भी योगी जी।

इससे पहले भी भोजपुरी स्टार निरहुआ ने अभी हाल में दो गीत बनाए थे। पहले गीत के बोल थे घुस जाले बिलवा में सांप बिच्छू, गोजर, चलेला जब चाप बाबा का बुलडोजर, यूपी से गायब भइले सूरमा, गजोधर।

इसके अलावा उन्होंने एक और गाना गाया है, ,जिसके बाले हैं चाहे जितना जोर लगा लो, चाहे जितना शोर मचा लो। जीतेगी बीजेपी ही। आएंगे फिर योगी। इन गीतों ने भी सोशल मीडिया पर काफी धूम मचा रखी है।

भोजपुरी अभिनेता दिनेष लाल निरहुआ ने बताया कि शूटिंग के दौरान भिन्न क्षेत्रों से लोग मिलते हैं। उनसे बातें होती है। उसी फीडबैक के आधार पर अपने आप गीत के बोल तैयार हो जाते है। लागों के आह्ललाद (खुशी) को मैं अपनी आवाज देने का काम कर रहा हूं।

निरहुआ के गीत से खुश होकर भाजपा समर्थकों ने सोशल मीडिया में उनकी जमकर प्रशंसा भी की है। एक प्रशंसक उदय प्रताप लिखते हैं कि किसानों को समय पर गेहूं धान गन्ना मूल्य भुगतान हों रहा है। समय पर खाद पानी बिजली मिल रही है। दलालों की दलाली बंद हो गई। जातिवाद खत्म। माफिया राज गुंडाराज मुक्त हो गया।

एक और भाजपा समर्थक सौरभ सिंह ने लिखा है कि अगर आजमगढ़ के लोगों के दिलों को जीतना है तो अमेठी में जिस तरह से स्मृति दीदी ने कार्य किया है वैसा आपको भी करना पड़ेगा।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के खिलाफ चुनाव में उतर चुके निरहुआ लगातार सपाइयों के निशाने पर भी है। इस गीत के कारण एक बार फिर सपा समर्थक उन पर हमले कर रहे हैं।

सपा समर्थक राजाराम शर्मा कहते है ये आपका भ्रम है आने वाले यूपी विधानसभा चुनावों में जाएगा तो योगी और आयेगा अखिलेश यादव ये ही सच्चाई है। इसे आप छुपा दबा नहीं सकते हैं। जनता के दिलों से मोदी जी योगी जी का डर खौफ खत्म हो गया है। अब जनता महंगाई बेरोजगारी भ्रष्टाचार के मुद्दे पर वोट देगी।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button