केरल चुनाव से पहले संकट में कांग्रेस

नई दिल्ली : केरल में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले ही सियासी मझधार में कांग्रेस की नइया डगमगाती नजर आ रही है।

राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वायनाड में कांग्रेस के चार प्रमुख नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है, जिसके बाद से केरल चुनाव से पहले कांग्रेस मुश्किल में आ गई है।

केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व सदस्य केके विश्वनाथन, केपीसीसी सचिव एमएस विश्वनाथन, डीसीसी महासचिव पीके अनिल कुमार और महिला कांग्रेस नेता सुजाया वेणुगोपाल ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया।

माना जा रहा है कि एक सप्ताह के भीतर पार्टी में असंतोष के कारण इन नेताओं ने इस्तीफा दे दिया है।

एमएस विश्वनाथन ने कहा कि वह जिले में कांग्रेस के नेतृत्व की विफलता और केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी नेतृत्व द्वारा उपेक्षा के कारण पार्टी से इस्तीफा दे रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘केपीसीसी नेतृत्व द्वारा उपेक्षा और जिला कांग्रेस कमेटी की विफलता के कारण मैं केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रहा हूं।

वहीं, केके विश्वनाथन ने आरोप लगाया कि पार्टी वायनाड में तीन सदस्यीय टीम द्वारा चलाई जा रही है। वहीं, पीके अनिल कुमार औपचारिक रूप से सांसद एमवी श्रेयसकुमार की उपस्थिति में लोक तांत्रिक जनता दल में शामिल हुए।

कांग्रेस ने इस संकट को हल करने के लिए के सुधाकरन सहित वरिष्ठ नेताओं की एक फौज तैनात की है। सुधाकरन स्थिति का जायजा लेने के लिए गुरुवार को वायनाड के डीसीसी कार्यालय पहुंचे।

बता दें कि केरल में मतदान 6 अप्रैल को एक ही चरण में होगा और परिणाम 2 मई को घोषित किए जाएंगे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button