हजारीबाग में अवैध संबंध के शक में पति ने गला दबाकर की हत्या, गिरफ्तार

हजारीबाग: हजारीबाग जिले की पुलिस ने शनिवार को रीता देवी हत्याकांड का खुलासा करते हुए पति को गिरफ्तार किया है।

मामले के अनुसंधान के क्रम में पुलिस को पता चला कि अवैध प्रेम संबंध के शक में इस घटना को अंजाम दिया गया था। बेन्दगी निवासी रेवल भुइया ने पुलिस को दिए अपने बयान में यह स्वीकार कर लिया कि उसने खुद अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या की।

आरोपित पति ने पुलिस को बताया कि उनकी पत्नी की किसी दूसरे व्यक्ति के साथ अवैध संबंध था। इसी वजह से उसे जंगल ले जाकर मार डाला।

पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जानकारी के मुताबिक पति पत्नी गत तीन दिसंबर को जवाहर घाट जंगल से जलावन के लिए लकड़ी लाने गए थे।

देर शाम तक दोनों वापस नहीं लौटे। चार से छह दिसंबर तक परिजनों ने महिला की काफी तलाश की। कोई पता नही चला। इसके बाद छह दिसंबर को बेटे ने बरही थाने में मां-बाप के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई।

सात दिसंबर को आरोपित अपने घर पहुंचा। उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस आठ दिसंबर को बेन्दगी गांव पहुंची।

घटनाक्रम की जानकारी ली। उस वक्त आरोपी ने बताया उसकी पत्नी को एक ट्रक वाला उठाकर ले गया। इस पर पुलिस को शक हुआ। पहले पुलिस ने आरोपित का इलाज कराया।

इसी बीच गत नौ दिसंबर को रेलवे ट्रैक के सामने झाड़ी से महिला का शव बरामद कर लिया गया। इसके बाद पुलिस ने फिर आरोपित से गहन पूछताछ की।

इसके बाद आरोपित से सारी कहानी पुलिस को बता दी। यह भी स्वीकार किया कि लकड़ी लाने के बहाने वह अपनी पत्नी को जंगल ले गया। पहाड़ी के ऊपर झाड़ी के पास पीछे से कुल्हाड़ी से वार कर नीचे गिरा दिया।

फिर गला दबाकर मार डाला। आरोपित को न्यायालय में प्रस्तुत किया गया, जहां से उसे शनिवार को जेल भेज दिया गया।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button