निजीकरण व श्रम कानूनों के खिलाफ माकपा ने किया हड़ताल का समर्थन

हजारीबाग: केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न निगमों के निजीकरण एवं श्रम कानूनों के 4 प्रावधानों को वापस लेने की मांग को लेकर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी (माकपा) के कार्यकर्ताओं की बैठक रामचंद्र राम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई।

बैठक में आगामी 15 एवं 16 मार्च को बैंक कर्मियों की हड़ताल, 17 मार्च को जनरल इंश्योरेंस कंपनी के हड़ताल एवं 18 मार्च को एलआईसी की हड़ताल को लेकर चर्चा की गई।

बैंक कर्मचारी, जीआईसी एवं एलआईसी के हड़ताल को समर्थन देने का निर्णय लिया गया। सीपीएम के जिला सचिव गणेश कुमार सीटू ने कहा कि केंद्र सरकार हवाई अड्डा, रेलवे, बैंक, एलआईसी का निजीकरण करने में लगी है।

यह न तो इन में कार्यरत कर्मियों के हित में है और ना ही देश हित में है। ऐसे में इस हड़ताल का व्यापक समर्थन पार्टी द्वारा करने का निर्णय लिया गया है।

इधर, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने भी हड़ताल का समर्थन करने का निर्णय लिया है। भाजपा के राज्य कमेटी के महेंद्र पाठक ने कहा है कि सरकार के द्वारा निजीकरण के कारण देश की जनता को नुकसान हो रहा है।

सरकार चंद पूंजीपतियों के हाथों में खेल रही है। उन्होंने आम लोगों से भी हड़ताल का समर्थन करने की अपील की।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button