भारत

अग्निपथ योजना के विरोध में 28 जून से जयंत करेंगे युवा पंचायत

28 जून से 16 जुलाई के बीच पश्चिम उत्तर प्रदेश के 11 शहरों में जयंत चौधरी युवा पंचायत कर योजना को वापस लेने की मांग करेंगे

लखनऊ: अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) व बेरोजगारी के विरोध में राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया जयंत चौधरी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में युवा पंचायत आयोजित करने जा रहे हैं। इसमें ज्यादा से ज्यादा युवाओं को जोड़ने का काम होगा।

रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने सेना में अग्निपथ योजना को लेकर युवा पंचायत (Yuva Panchayat) का ऐलान किया है। 28 जून से 16 जुलाई के बीच पश्चिम उत्तर प्रदेश के 11 शहरों में जयंत चौधरी युवा पंचायत कर योजना को वापस लेने की मांग करेंगे।

जयंत चौधरी ने गुरुवार को अग्निपथ योजना को लेकर युवा पंचायत का ऐलान किया। उन्होंने कहा है कि 28 जून से 16 जुलाई तक पश्चिम उत्तर प्रदेश के 11 शहरों में युवाओं की पंचायत होगी।

उन्होंने 28 जून को शामली में पहली युवा पंचायत की घोषणा की है। उसके बाद एक जुलाई को मथुरा, तीन जुलाई को मुजफ्फरनगर, चार जुलाई को बिजनौर, छह जुलाई को बुलंदशहर, आठ जुलाई को अमरोहा, नौ जुलाई को मुरादाबाद, 11 जुलाई को अलीगढ़, 12 जुलाई को आगरा, 14 जुलाई को गाजियाबाद और 16 जुलाई को बागपत में युवा पंचायत का आयोजन होगा। 16 जुलाई को बागपत में आगे की रणनीति का ऐलान होगा।

अग्निवीरों की भर्ती पूरे देश में आयोजित की जाएगी

उन्होंने कहा है कि सेना भर्ती में अग्निपथ योजना युवाओं के लिए उचित नहीं है। उन्होंने नारा दिया है भारतीय सेना को अग्निवीर मत बनाओ, अग्निपथ योजना वापस लो।

ज्ञात हो अग्निपथ योजना को लेकर पूरा विपक्ष हमलावर है। कांग्रेस, सपा, बसपा सभी ने अपने-अपने तरीके से विरोध जताया है। ऐसे में जयंत चौधरी ने पंचायत करने का निर्णय लिया है।

ज्ञात हो कि थलसेना, नौसेना और वायुसेना में सैनिकों की भर्ती संबंधी अग्निपथ योजना की घोषणा की थी। जिसके तहत सैनिकों की भर्ती चार वर्ष की संक्षिप्त अवधि के लिए संविदा आधार पर की जाएगी।

इस योजना के तहत तीनों सेनाओं में इस वर्ष करीब 46,000 सैनिक भर्ती किए जाएंगे। चयन के लिए पात्रता आयु साढ़े 17 वर्ष से 21 वर्ष के बीच होगी और इनको अग्निवीर नाम दिया जाएगा।

चार साल की नौकरी के बाद युवाओं को 11.7 लाख रुपए की सेवा निधि दी जाएगी। इस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। अग्निवीरों की भर्ती पूरे देश में आयोजित की जाएगी। मेरिट (merit) में आए युवाओं को इसमें चुना जाएगा।