झारखंड के इस अस्पताल के डॉक्टरों और कर्मचारियों को इस दिन से नहीं आने का फरमान जारी

खूंटी: सुदरवर्ती पर्वतीय क्षेत्र के लोगों को चिकित्सा सुविधा मुहया कराने के उद्देश्य से भगवान बिरसा मुंडा की धरती अड़की में संचलित कल्याण अस्पताल 15 जुलाई के बाद बंद हो जायेगा।

राज्य सरकार द्वारा कल्याण अस्पताल को राशि मुहैया नहीं कराने के कारण दो दिनों के बाद वहां के सभी डॉक्टरों और कर्मचारियों को 15 जुलाई के बाद नहीं आने का फरमान अस्पताल का संचालन करने दीपक फाउंडेशन ने जारी कर दिया है।

दीपक फाउंडेशन ने राशि मुहैया कराने को लेकर सरकार को कई बार पत्र लिखा, पर राज्य सरकार ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया। फलस्वरूप अस्पताल का बंद होना तय माना जा रहा है।

मामले की जानकारी मिलने पर जिला सांसद प्रतिनिधि मनोज कुमार की अगुवाई में भाजपा कार्यकर्ताओं और गांव के लोगों ने मंगलवार को अस्पताल की हालत का जायजा लिया।

सांसद प्रतिनिधि ने बताया कि भगवान बिरसा मुंडा की जन्मभूमि अड़की के कल्याण अस्पताल के संचालन लिए राज्य सरकार द्वारा राशि देने के कारण अस्पताल बंद होने के कगार पर है।

जिस अस्पताल से सुदूरवर्ती जनजातीय बहुल क्षेत्र के गरीब ग्रामीणों की स्वास्थ्य जांच व उपचार करने में अब परेशानी होगी।

उन्होंने कहा कि अस्पताल के बंद होने से हजारों गरीबों को इलाज से वंचित होना पड़ेगा।

राज्य सरकार द्वारा राशि मुहैया नहीं कराए जाने पर अस्पताल का संचालन करने चाली संस्था ने अस्पताल के कर्मचारियों और चिकित्सकों को छुट्टी पर जाने को कह दिया है।

15 जुलाई तक ही अस्पताल में कर्मी और और चिकित्सक रह पाएंगे। इसके बाद यह अस्पताल बंद हो जायेगा।

जिला सांसद प्रतिनिधि मनोज कुमार के नेतृत्व में अनुप कुमार साहू, प्रखण्ड भाजपा अध्यक्ष मोती पातर और ग्राम प्रधान खुदीराम सिंह मुण्डा और शिवचरण सिंह मुण्डा के साथ प्रतिनिधिमंडल ने उपायुक्त शशि रंजन को ज्ञापन सौंपा और अस्पताल को बंद होने से बचाने की अपील की।

भाजपा नेताओं ने बताया कि वैसे भी अड़की प्रखंड में स्वास्थ्य सुविधा का अभाव है। ऐसे में कल्याण आश्रम के बंद होने से लोगों को भारी कठिनाई होगी।

क्षेत्र के समाजसेवी और भाजपा के मंडल अध्यक्ष मोती पातर ने बताया कि जिला प्रशासन को इस ओर अविलंब ध्यान देना चाहिए अन्यथा इलाज के अभाव में ग्रामीण बेमौत मारे जायेंगे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button