झारखंड : नर्सिंग कौशल कॉलेज की प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट जारी, हेल्पलाइन नंबर जारी, यहां से करें चेक

हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है, जो 6204800180 है

रांची : प्रेझा फाउंडेशन (कल्याण विभाग, झारखंड सरकार की विशेष परियोजना परिवहन) द्वारा संचालित नर्सिंग कौशल कॉलेजों में प्रवेश के लिए ली गयी लिखित परीक्षा का रिजल्ट आ गया है।

इसमें कुल 3,699 छात्राएं अगले चरण के लिए सेलेक्ट की गयी हैं। बाकी छात्राओं को वेटिंग लिस्ट में रखा गया है।

छात्राएं वेबसाइट https://app.prejha.org/signin.php पर जाकर अपना परिणाम जान सकती हैं।

हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है, जो 6204800180 है। छात्राएं और अभिभावक इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर रिज्ल्ट, काउंसलिंग और एडमिशन को लेकर हिंदी और राज्य की स्थानीय भाषा में जानकारी हासिल कर सकते हैं।

बता दें कि झारखंड की युवतियों को नर्सिंग और स्वास्थ्य के क्षेत्र में रोजगारपरक बनाने के लिए नर्सिंग कौशल कॉलेजों में लिखित प्रवेश परीक्षा ली गयी थी।

झारखंड : नर्सिंग कौशल कॉलेज की प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट जारी, हेल्पलाइन नंबर जारी, यहां से करें चेक

इस परीक्षा में राज्य के 22 जिलों में 23 अलग-अलग परीक्षा केंद्रों पर कुल आठ नर्सिंग कौशल कॉलेजों की 960 सीट्स के लिए 6,306 छात्राएं शामिल हुई थीं।

दावे के मुताबिक, नर्सिंग कौशल कॉलेज वंचित समुदाय, विशेषकर अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग की छात्राओं को बेहतर व्यवस्था, सुरक्षित वातावरण में बेहतर नर्सिंग शिक्षा देने के साथ शत-प्रतिशत रोजगार मुहैया कराता है।

उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष नर्सिंग कौशल कॉलेज की छात्राओं को मुख्यमंत्री ने नियुक्ति पत्र भी दिया था।

झारखंड : नर्सिंग कौशल कॉलेज की प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट जारी, हेल्पलाइन नंबर जारी, यहां से करें चेक

परीक्षा केंद्रों के बाहर प्रेझा फाउंडेशन की अन्य योजना जैसे आईटीआई कौशल कॉलेज और कल्याण गुरुकुल के बारे में बताया गया था।

इसी सप्ताह मुख्यमंत्री ने कल्याण गुरुकुल के 238 युवाओं को नियुक्ति पत्र देकर रोजगार के लिए रवाना किया था।

कल्याण गुरुकुल झारखंड के बेरोजगार युवाओं को तीन महीने का प्रशिक्षण देकर रोजगार प्रदान करता है। कल्याण गुरुकुल के बारे में ऊपर दिये हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button