झारखंड के विभिन्न जिलों से पारा शिक्षकों का रांची में हुआ महाजुटान, घेरा विधानसभा, की नारेबाजी

न्यूज़ अरोमा रांची: Para Teacher Jharkhand स्थायीकरण व वेतनमान की मांग को लेकर पारा शिक्षकों की राज्य सरकार के साथ आरपार की जंग शुरू हो गई है।

एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा झारखंड इकाई के आहवान पर राज्य के विभिन्न जिलों से हजारों की संख्या में पारा शिक्षकों का हुजूम रांची में उमड़ पड़ा है।

बड़ी संख्या में पारा शिक्षकों ने धुर्वा स्थित विधानसभा भवन का घेराव कर दिया है। साथ ही हेमंत सरकार की वादाखिलाफी को लेकर आंदोलनकारियों में गुस्सा है।

सरकार को चुनाव पूर्व किये वादे की याद दिलाते हुए पारा शिक्षकों की भीड़ जमकर प्रदर्शन कर रही है।

हालांकि, मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल को भी तैनात कर दिया गया है ताकि किसी भी परिस्थिति से निपटा जा सके।

सुबह से ही रांची की सड़कों पर दिखा रेला

अपनी विभिन्न मांगों को लेकर पांच दिवसीय विधानसभा घेराव कार्यक्रम को लेकर राजधानी रांची में अहले सुबह से ही पारा शिक्षकों का जुटान होने लगा था।

राज्य के विभिन्न जिलों से रांची पहुंचने के बाद आंदोलनकारियों का हुजूम पैदल ही विधानसभा भवन की ओर कूच कर गया। इस कारण सिटी के विभिन्न इलाकों में जाम जैसा नजारा रहा।

जगह जगह लगे जाम को हटाने में पुलिस जवानों के भी पसीने छूटते रहे। इस दौरान आंदोलनकारियों के हाथों में सरकार की वादाखिलाफी को लेकर बैनर पोस्टर नजर आए।

भारी संख्या में पुलिस बल तैनात

पारा शिक्षकों के आंदोलन को लेकर रांची में विभिन्न चैक चैराहों के अलावा खासकर विधानसभा कैंपस के बाहर भारी संख्या में पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। इसमें किसी भी स्थिति से निपटने की पूरी तैयारी है।

साथ ही अतिरिक्त जवानों को भी विशेष परिस्थिति में तैयार रहने के लिए तैयार रहने को निर्देश दिया जा चुका है।

पूर्व निर्धारित विधानसभा कार्यक्रम के तहत पहले दिन सोमवार को गिरिडीह, रामगढ़, देवघर, लोहरदगा और पूर्वी सिंहभूम के पारा शिक्षकों को आंदोलन की जिम्मेवारी दी गई है।

आंदोलन की अगुवाई एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा झारखंड इकाई कर रही है।

पांच दिनों तक विधानसभा घेरने की है तैयारी

15 मार्च – गिरिडीह, रामगढ़, देवघर, लोहरदगा और पूर्वी सिंहभूम
16 मार्च – चतरा, गढ़वा, सिमडेगा, गोड्‌डा और पश्चिम सिंहभूम
17 मार्च – हजारीबाग, लातेहार, पाकुड़, रांची और खूंटी
18 मार्च – पलामू, धनबाद, कोडरमा और सरायकेला.खरसावां
19 मार्च – गुमला, दुमका, जामताड़ा, साहेबगंज और बोकारो

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button