बिहार

राष्ट्रपति प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को मिला लोजपा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा का समर्थन

पटना: सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (National Democratic Alliance) के राष्ट्रपति प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा का साथ मिला है।

लोजपा (रामविलास) के प्रमुख और जमुई के सांसद चिराग पासवान ने झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने की प्रशंसा भी की है।

सूत्रों के मुताबिक, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चिराग पासवान को फोन करके राजग की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के लिए समर्थन भी मांगा है।

राजनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) भी चाहते हैं कि चिराग पासवान राजग में ही रहें।

चिराग पासवान ने बुधवार को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर यह घोषणा कर दी है कि उनकी पार्टी एनडीए प्रत्याशी का समर्थन देगी।

विपक्ष ने पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा को प्रत्याशी बनाया

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, आदिवासी समाज से आने के बावजूद भी द्रौपदी मुर्मू ने आज जो मुकाम हासिल किया है यह उनकी काबिलियत एवं संघर्ष का ही परिणाम है। समाज के वंचित वर्ग से देश के सर्वोच्च पद की दावेदारी करोड़ों भारतीयों के लिए प्रेरणादायक है।

उन्होंने आगे लिखा, राजग के द्वारा द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया जाना हमारे लिए गर्व की बात है। देश में ऐसा पहली बार होगा जब एक आदिवासी समाज से आने वाली बेटी देश के सर्वोच्च पद का दायित्व ग्रहण करेगी। लोजपा (रामविलास) भाजपा के इस फैसले का पूर्ण रूप से समर्थन करती है।

इधर, बिहार सरकार में शामिल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (Hindustani Awam Morcha) ने भी राष्ट्रपति चुनाव में राजग प्रत्याशी को समर्थन देने की घोषणा की है। हम के प्रमुख जीतन राम मांझी ने राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी बनाए जाने पर मुर्मू को शुभकामनाएं भी दी है।

उन्होंने कहा कि ये गर्व का क्षण है जब लगातार दूसरी बार हमारे बीच से कोई राष्ट्रपति बनने जा रहा है। हम के बिहार में चार विधायक हैं। विपक्ष ने पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) को प्रत्याशी बनाया है।