मेदिनीनगर में मिठाई की दुकानों में छापेमारी, रांची भेजा जायेगा सैंपल

मिठाईयों में मिलावट के संदेह पर बुधवार को दो दर्जन दुकानों में छापेमारी की गई

मेदिनीनगर: दीपावली के एक दिन पूर्व दुकानों में बिक्री के लिए रखी गई मिठाईयों में मिलावट के संदेह पर बुधवार को दो दर्जन दुकानों में छापेमारी की गई।

मिठाईयों में मिलावट की गुप्त सूचना के आधार पर सदर अनुमंडल पदाधिकारी राजेश कुमार साह एवं खाद्य सुरक्षा पदाधिकारी मनोज कुमार ने मिठाई दुकानों का औचक निरीक्षण कर छापेमारी की।

इस दौरान पदाधिकारियों ने खाद्य सामग्री में मिलावट के संदेह के मद्देनजर करीब आधा दर्जन दुकानों से विभिन्न मिठाइयों का नमूना संग्रह किया। संग्रहित नमूने को कोलकाता एवं रांची स्थित खाद्य सामग्री जांच केंद्र में भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

अनुमंडल पदाधिकारी राजेश कुमार साह एवं खाद्य सुरक्षा पदाधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि बस स्टैंड के कुछ दुकानदारों द्वारा बाहर से मिठाई मंगा कर बेचे जाने की गुप्त सूचना मिली थी।

इसके आधार पर औचक निरीक्षण कर छापेमारी कर मिठाई का नमूना संग्रह किया गया। उन्होंने बताया कि मुस्लिम नगर स्थित राजकुमार केसरी की दुकान से लड्डू का नमूना संग्रह किया गया।

रेडमा चौक के माखन भोग नामक दुकान से लड्डू एवं नारियल का लड्डू, मुकेश भोजनालय शदीक चौक से लड्डू एवं खीरमोहन, न्यू सिंघाड़ा महाराज बस स्टैंड से खीरमोहन, मां दुर्गा स्वीट बस स्टैंड से लड्डू एवं बस स्टैंड के ही विजय अग्रवाल की दुकान से मिठाइयों का नमूना संग्रह किया गया, जिसे लेबोरेटरी में जांच हेतु भेजे जाने की कार्रवाई की जा रही है।

खाद्य सुरक्षा पदाधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि बस स्टैंड स्थित विजय अग्रवाल द्वारा बिहार से रेडीमेड मिठाइयां लाकर लोकल बाजार में बिक्री की जाती है।

उन्होंने बताया कि छापेमारी के दौरान प्रायः दुकानों में देखा गया कि अखाद्य कलर एवं मैजिक कलर का इस्तेमाल किया जा रहा है, जो व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

उन्होंने बताया कि ईट राइट पलामू कार्यक्रम के तहत शहर के विभिन्न मिष्ठान भंडार और व्यवसायियों से खाद्य सुरक्षा कानून के बारे में बैठक कर एवं होर्डिंग-पोस्टर के माध्यम से लोगों को स्वच्छ खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने एवं उसका सेवन के लिए जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है।

यह कार्य निरंतर जारी है। सदर अनुमडल पदाधिकारी ने कहा कि खाद्य सामग्री में मिलावट की शिकायत मिलने पर संबंधित दुकानदारों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button