झारखंड

रांची में COVID टास्क फोर्स की बैठक में DC ने दिए डाटाबेस तैयार करने के निर्देश

रांची: कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम, मरीजों के इलाज एवं टीकाकरण को लेकर बेहतर व्यवस्था के लिए जिला प्रशासन की ओर से लगातार प्रयास किये जा रहे हैं।

इसी को लेकर उपायुक्त छवि रंजन की ओर से नियमित रुप से सभी कोषांगों के कार्यों की समीक्षा की जा रही है। इसी क्रम में सोमवार को डिस्ट्रिक कोविड टास्क फोर्स की बैठक आयोजित की गयी।

वर्चुअल बैठक में उपायुक्त ने सभी कोषांगों के वरीय पदाधिकारी एवं अन्य संबंधित पदाधिकारियों को कई आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

बैठक में जिले में कोविड-19 टीकाकरण कार्य की समीक्षा उपायुक्त द्वारा की गई। उन्होंने 15 प्लस, 18 प्लस और प्रिकॉशनरी डोज दिए जाने के कार्य की विस्तार से जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

डाटाबेस तैयार करने का निर्देश

15-18 वर्ष आयुवर्ग के किशोरों के कोविड-19 टीकाकरण को लेकर उपायुक्त ने डाटाबेस तैयार करने का निदेश दिया।

उन्होंने डाटाबेस तैयार होने के बाद सभी बीडीओ को कलस्टर बनाकर वैक्सीनेशन कराने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने कहा कि स्कूल के माध्यम से ड्रापआउट बच्चों को चिन्हित करें, इसमें बीईईओ, सेविका-सहायिका की भी मदद लें।

कोविड जांच बढ़ाने का निर्देश

उपायुक्त ने बैठक के दौरान टेस्टिंग सेल की समीक्षा करते हुए कहा कि रैपिड एंटीजेन टेस्ट की संख्या बढ़ायें। जांच में अच्छा प्रदर्शन करनवाले प्रखंड की उपायुक्त ने प्रशंसा की।

साथ ही कम जांच करनेवाले प्रखंड के बीडीओ और एमओआईसी को एक सप्ताह में प्रदर्शन में सुधार करने का निर्देश दिया।

बैठक के दौरान उपायुक्त ने होम आइसोलेशन एवं कॉल सेंटर की भी समीक्षा करते हुए संबंधित वरीय पदाधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि मरीजों को ससमय ट्रैक कर उन तक मुख्यमंत्री कोरोना राहत किट पहुंचाना सुनिश्चित करें। कंटेनमेंट जोन डिनोटिफाई करने को उपायुक्त ने एसी रांची को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

शिफ्ट वाइज डिटेल दें

उपायुक्त ने जिला कोविड अस्पताल (सदर अस्पताल) में सभी फ्लोर में प्रतिनियुक्त कर्मियों की शिफ्ट वाइज डिटेल देने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि प्रतिनियुक्त सभी पदाधिकारी, कर्मी, डॉक्टर एवं स्वास्थ्यकर्मी अपनी अपनी शिफ्ट में उपस्थित रहे, कार्य में लापरवाही बरतने पर कार्रवाई की जायेगी।