झारखंड

झारखंड : 19 मार्च को विधानसभा परिसर में भूख हड़ताल में रहने का लिया निर्णय

रांची: गोमिया विधायक डॉ. लंबोदर महतो ने सदन में दिये गए आश्वासन का अनुपालन नहीं होने एवं बोकारो जिला प्रशासन के मनमाने पूर्ण रवैये के विरुद्ध 19 मार्च को विधानसभा परिसर में दिन भर भूख हड़ताल करने का निर्णय लिया है। इसको लेकर विधानसभा अध्यक्ष को भी अवगत करा दिया है।

उन्होंने कहा कि गृह विभाग द्वारा 16 मार्च 20 को पूछे गए तारांकित प्रश्न के आलोक में विभाग द्वारा आश्वस्त किया गया था।

शहीद के आश्रित को दो लाख रुपये के अनुग्रह अनुदान का भुगतान 15 दिनों के अंदर कर दिया जाएगा, लेकिन 15 महीने बीत जाने के बाबजूद अब तक भुगतान नहीं किया गया है, जो सदन की अवमानना का मामला बनता है।

इस प्रकार के कई जनहित के मामले है जिसपर सदन में सरकार के द्वारा प्रश्नकाल एवं सरकार के उत्तर के क्रम आश्वाशन दिया गया है। लेकिन न ही कोई कार्रवाई हुईं न ही से कोई संतोषजनक जबाब दिया जाता है।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र से सम्बंधित कई जनहित के मुद्दे पर जिला प्रशासन मनमाने तरीके से निर्णय ले रहा है न ही विधायिका के गरिमा का ख्याल किया जा जाता है न जनहित के मुद्दों पर उचित निर्णय लिया जाता है।

इसका ताजा उदाहरण चतरोचट्टी में धान अधिप्राप्ति केंद्र का सदन में मामले को उठाये जाने के बाद उपायुक्त बोकारो के द्वारा दुरभाष से वार्ता कर 24 घन्टे में कार्रवाई का आश्वासन दिया गया।

लेकिन उपायुक्त के द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई।

इस सन्दर्भ में  बार- बार सदन की अवमानना एवं विधायिका को नजरअंदाज करने के मामलों से दुःखी होकर हमने सदन के बाहर दिन भर धरना देते हुए भूख हड़ताल में रहने का निर्णय लिया है।

उन्होंने कहा कि इस बाबत हमने विधानसभा अध्यक्ष को पत्र सौंप कर भूख हड़ताल पर रहने की अनुमति भी मांगी है।

Back to top button