झारखंड में हिंसा फैलाने के आरोप में 18 नामजद और 150 से 200 अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

देवघर: सपहा सेठ बिल्ला के पास रविवार को सड़क हादसे में मृत युवक की मौत के बाद हिंसा फैलाने के आरोप में 18 नामजद और 150 से 200 अज्ञात व्यक्तियों पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

पुलिस निरीक्षक मनोज कुमार मल्लिक ने शिकायत में नाजायज मजमा बनाकर रोड जाम करते हुए पुलिस पर जानलेवा हमला, पुलिस मोटरसाइकिल में आग लगाने,बल पूर्वक राइफल छीनने, लॉग डैम के नियमों का उल्लंघन करते हुए सरकारी काम में बाधा मामले के मामले में 18 नामजद सहित 150-200 व्यक्तियों पर प्राथमिकी दर्ज कराया है।

नामजद आरोपी पटवाबाद, बड़ा नारायणपुर, झुनका, अड़रियापहाड़ी और जमुनियाटांड़ के रहने वाले बताए गए हैं।

पुलिस निरीक्षक ने बताया कि रविवार को सूचना मिली कि थाना क्षेत्र के सेठ बिल्ला सपाहा के पास सड़क दुर्घटना में एक युवक की मौत हुई है।

वहां जाकर देखा तो मृतक के परिजन और ग्रामीण सड़क पर शव रखकर जाम किए थे।

पूछताछ में पता चला मृतक बड़ा नारायणपुर निवासी 35 वर्षीय मोहम्मद अखलाक हुसैन को अज्ञात वाहन ने धक्का मार दिया जिससे उसका बाइक क्षतिग्रस्त हो गया और उसकी मौत हो गई।

मृतक के परिजनों को समुचित मुआवजा दिलाने और वाहन को जब्त करने का आश्वासन दिया।

सड़क जाम कर रहे लोगों को काफी समझाने बुझाने का प्रयास किया लेकिन वह शांत नहीं हुए।

आक्रोशित होकर पुलिस को गाली गलौज करने लगे पत्थरबाजी करते हुए वहां तैनात सहायक अवर निरीक्षक निर्भय कुमार सिंह पर जानलेवा हमला कर जख्मी कर दिया।

सैट 4 के आरक्षी दिलीप कुमार का एचीवर बाइक में आग लगाकर जला दिया।

आरक्षी से बलपूर्वक राइफल छीनने का भी प्रयास किया गय।

अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी और अंचलाधिकारी के समझाने पर लोग शांत हुए।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button