झारखंड

पंचायत चुनाव 2022 : झारखंड के 21 जिलों में कुल 68.15 प्रतिशत मतदान

पहले चरण में 21 जिलों के 72 प्रखंडों की 1,127 ग्राम पंचायतों में वोटिंग हुई

रांची: झारखंड के 21 जिलों में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election) के पहले चरण की वोटिंग शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई।

राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार पहले चरण मे 68.15 प्रतिशत मतदान हुआ । पहले चरण में 21 जिलों के 72 प्रखंडों की 1,127 ग्राम पंचायतों में वोटिंग हुई।

शनिवार की सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक वोटिंग हुई। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी मतदाताओं में वोटिंग को लेकर काफी उत्साह देखा गया।

खासकर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी मतदाता बिना किसी डर के मतदान करने घर से बाहर निकले। इस दौरान महिलाओं में भी काफी उत्साह देखा गया। इस दौरान पुलिस प्रशासन की मुस्तैदी भी काफी देखी गयी।

लोकतंत्र के इस महापर्व में 14,079 मतदान केंद्रों पर कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान शाम तीन बजे तक हुआ। तीखी धूप में भी मतदाताओं का उत्साह देखते ही बन रहा था.

राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव राधेश्याम प्रसाद के अनुसार, सभी जगहों पर शांतिपूर्ण मतदान हुआ है। कहीं से कोई गड़बड़ी की सूचना आयोग को नहीं मिली है।

पहले चरण में 14079 बूथों में से 11154 बूथ संवेदनशील और अतिसंवेदनशील श्रेणी में रखा गया था. पहले चरण के चुनाव में कुल मतदाता की संख्या 52,22,815 हैं। विभिन्न पदों के लिए 30,221 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

राज्य चार चरण में हो रहे त्रिस्तरीय झारखंड पंचायत चुनाव में ग्राम पंचायत के 6085 सदस्य निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। वहीं चार मुखिया भी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं. इसके अलावा पंचायत समिति के 140 सदस्य निर्विरोध निर्वाचित चुने जा चुके हैं।

पहले चरण के पंचायत चुनाव में 21 जिलों के 72 प्रखंड में विभिन्न पदों के लिए 30,221 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला बैलेट बॉक्स में कैद हो गया है।

इसके तहत ग्राम पंचायत सदस्य के लिए 17,822, मुखिया के लिए 6,890, पंचायत समिति सदस्य के लिए 4,694 और जिला परिषद सदस्य के लिए 815 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला बैलेट बॉक्स में कैद हो गया है।

किस जिले में कितनी वोटिंग

गढ़वा 69.67,पलामू 65.43, लातेहार 63.09 , चतरा 68.47, हजारीबाग 63, गिरिडीह 72.51, देवघर 76.26, गोडडा 62, साहिबगंज 73.60, पाकुड़ 75.06, दुमका 65.19, धनबाद 73, बोकारो 70.29, रामगढ़ 72.22, लोहरदगा 61.65, गुमला 62.67, रांची 71.10, सिमडेगा 63.37, पश्चिम सिंहभूम 64.13, सरायकेला खरसावां 72.11 और पूर्वी सिंहभूम 66. 36 प्रतिशत