रांची में पान मसाला व सिगरेट बेचनेवालों की खैर नहीं, 13 छापेमारी दल चला रहे स्पेशल अभियान

रांची: उपायुक्त छवि रंजन के निर्देश पर रांची जिला के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिबंधित 11 ब्रांड के पान मसालों एवं सार्वजनिक स्थान पर धूम्रपान, खुला सिगरेट बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई।

शहरी क्षेत्र के लिए 13 छापेमारी दल बनाए गए हैं। इसमें दंडाधिकारी के रूप में अंचल अधिकारी हैं। साथ में प्रत्येक दल के साथ एक चिकित्सा पदाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी को रखा गया है।

ग्रामीण क्षेत्र के लिए प्रखंड विकास पदाधिकारी को अपने क्षेत्र के साथ समन्वय स्थापित कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है।

सिटी की 166 दुकानों का कटा चालान

सभी छापामारी दल की सुबह 9.30 बजे प्रतिबंधित पान मसाले एवं कोटपा-2003 के तहत कार्रवाई के संदर्भ में अपर जिला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था रांची, सिटी एसपी, अनुमंडल पदाधिकारी सदर रांची एवं सीड्स द्वारा ब्रीफिंग की गई।

इसके बाद सभी छापामारी दल एवं पुलिस बल के साथ पूरे शहर में छापेमारी शुरू की गई। छापेमारी शुरू होते ही शहर में अफरा-तफरी मच गई।

इस दौरान 200 से ज्यादा दुकानों की जांच की गई और 166 चालान काटा गया। इस दौरान लगभग 35,000 रुपए का आर्थिक दंड वसूला गया।

स्कूल से 100 गज के दायरे का डिमार्केशन

उपायुक्त रांची के निर्देशानुसार स्कूलों में येलो लाइन 100 गज की दूरी पर किसी भी प्रकार के पान मसाला, तंबाकू के विक्रय पर रोक लगाने के लिए डिमार्केशन किया गया।

इस अभियान को 2 से 3 दिनों के अंदर पूरा करने का निर्देश दिया गया है। प्रतिबंधित 11 ब्रांड के पान मसाले की रांची जिला के सभी सीमा क्षेत्र पर सघन जांच करने का आदेश दिया गया ताकि इस तरह के प्रतिबंधित पान मसाले की तस्करी पर रोक लगाई जा सके।

जागरुकता अभियान भी चलेगा

आने वाले दिनों में इस तरह का सघन छापेमारी अभियान लगातार चलाकर प्रतिबंधित पान मसाले के खिलाफ जागरुकता अभियान चलाया जाएगा।

नगर आयुक्त रांची से कितने वेंडर्स को लाइसेंस निर्गत किया गया है, इसकी जानकारी साझा करने का अनुरोध किया गया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button