Uncategorized

अनंतनाग मुठभेड़ में हिजबुल के टॉप कमांडर समेत 3 आतंकी ढेर

आईजीपी विजय कुमार ने अशरफ मौलवी समेत हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की

अनंतनाग: अनंतनाग जिले के बटकूट पहलगाम इलाके में स्थित सिरचन टॉप पर आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच जारी मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया है। मारे गए आतंकियों में हिजबुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर मोहम्मद अशरफ मौलवी भी है।

मोहम्मद अशरफ टाप 10 मोस्ट वांटेड सूची में शामिल

कोकरनाग के तेंगपावा का रहने वाला मोहम्मद अशरफ टाप 10 मोस्ट वांटेड सूची में शामिल था। वह सबसे ज्यादा लंबे समय तक जीवित रहा। 2013 में ही आतंकी बनने के बाद बहुत जल्द ही मोस्ट वांटेड आतंकी बन गया था।

शुक्रवार को इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना के बाद सेना की 3 आरआर बटालियन, सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस के एसओजी के जवान सिरचन टॉप पहुंचे और उन्होंने तलाशी अभियान शुरू किया।

तलाशी अभियान के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों को अपने पास आता देख उन पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई।

समाचार लिखे जाने तक सुरक्षाबलों ने अभी तक तीन आतंकियों को मार गिराया है। अन्य आतंकी बटकूट के पहाड़ी इलाके सिरचन टॉप में छिपे हुए हैं।

सुरक्षा बलों ने आतंकियों को पूरी तरह से घेर रखा है ताकि जंगल में पेड़ों के पीछे छिपे आतंकी गोलीबारी की आड़ में बचकर न निकल जाएं। समाचार लिखे जाने तक सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी थी।

आईजीपी विजय कुमार ने अशरफ मौलवी समेत हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की है। घाटी में सबसे ज्यादा देर तक जीवित रहने वाला मोहम्मद अशरफ घाटी में आतंकियों की भर्ती करने में मुख्य भूमिका निभाता था। इसलिए उसका मारा जाना सुरक्षाबलों के लिए बड़ी सफलता है।