नवादा में पुलिस दल पर बालू माफियाओं का हमला, 5 पुलिसकर्मी घायल

नवादा: नवादा जिले के वारिसलीगंज थाना इलाके में बालू के अवैध भंडारण के ठिकाने पर छापेमारी करने गई पुलिस व खनन अधिकारियों की टीम पर माफिया व उसके गुर्गों ने बुधवार की देर रात गोलियां चलाई।

पथराव व लाठी डंडे से भी हमला किया। पुलिस को जवाबी कार्रवाई में हवाई फायरिंग करनी पड़ी। थाना क्षेत्र के सौर पंचायत की चंडीपुर गांव के प्राथमिक विद्यालय के समीप की घटना बताई गई है।

माफिया के हमले में एक दारोगा समेत 5 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। थाने की नई जिप्सी भी क्षतिग्रस्त की गई।

घटना में अपर थानाध्यक्ष रूदल ठाकुर, जिप्सी चालक भोला मांझी, पुलिस कर्मी धर्मेंद्र कुमार यादव, मुकेश कुमार एवं मुकेश पासवान चोटिल हुए।

सहायक खान निदेशक विजय प्रसाद सिंह को चंडीपुर गांव के प्राथमिक विद्यालय के समीप सकरी नदी से अवैध बालू का भंडारण करने की सूचना मिली थी।

खान निदेशक वारिसलीगंज थाना की पुलिस के साथ छापेमारी करने पहुंचे। जहां बालू माफिया छापेमारी दल पर टूट पड़े।

ईंट पत्थर एवं लाठी डंडे से हमला शुरू किया गया। अंधाधुंध गोलीबारी भी की गई।

इस दौरान वहां बालू भंडारण में लगा ट्रक एवं जेसीबी मशीन को बदमाश लेकर भगाने में सफल रहे। हालांकि एक हाइवा को पुलिस द्वारा जब्त किया गया।

इस दौरान पुलिस द्वारा आत्मरक्षार्थ तीन चक्र गोलियां चलाई गई। वहीं हमलावरों द्वारा दर्जनों राउंड गोलियां दागी गई।

इस मामले में खनन निदेशक विजय प्रसाद सिंह के आवेदन पर कुल 08 लोगों को नामजद एवं 25-30 अज्ञात के खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

चंडीपुर, मननपुर एवं तथा मुरार बीघा गांव के लोगों को आरोपी बनाया गया है। पुलिस आराेपितों की गिरफ्तारी को छापेमारी कर रही है।

इस इलाके में सकरी नदी के विभिन्न घाटों से अवैध बालू का धंधे को रोक पाने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है।

पिछले तीन वर्षों के दौरान अवैध खनन को रोकने गई पुलिस टीम पर कई बार हमला हो चुका है।

चंडीपुर गांव की घटना से पहले मिल्की बालू घाट, हाजीपुर पंचायत की गरेडिया बिगहा, बरनावा पंचायत की भागवत बिगहा, मुर्गियां चक, मंजौर एवं मसनखावां गांव में पुलिस टीम पर ईंट पत्थर से हमला हो चुका है।

घटना के कई हमलावरों को जेल भी भेजा जा चुका है। बावजूद माफिया का मनोबल नहीं टूटा है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button