मनोरंजन

हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान जूही चावला की फिल्मों के गाने गुनगुनाए, कार्रवाई करने का निर्देश

नई दिल्ली: 5जी मोबाइल को लांच करने से रोकने की मांग करनेवाली फिल्म अभिनेत्री जूही चावला की याचिका पर सुनवाई के दौरान आज एक व्यक्ति उनकी फिल्मों का एक गीत गुनगुनाने लगा।

दिल्ली हाईकोर्ट की ओर से उसे सुनवाई से बाहर निकालने के बावजूद वह वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये दोबारा जुड़ गया और एक दूसरा गाना गाने लगा।

कोर्ट ने आईटी डिपार्टमेंट को गाना गुनगुनाने वाले व्यक्ति की पहचान करने के साथ ही दिल्ली पुलिस को जरूरी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

दरअसल जैसे ही वीडियो कांफ्रेंसिंग से सुनवाई शुरू हुई तो जूही चावला जुड़ीं और एक व्यक्ति उनकी फिल्म ‘हम हैं राही प्यार के’ का गाना ‘घूंघट की याद से दिलबर का…’ गाने लगा।

जस्टिस जेआर मिधा के कहने पर गाना गुनगुनाने वाले व्यक्ति को म्यूट कर दिया गया। थोड़ी देर सुनवाई आगे बढ़ने के बाद वह व्यक्ति दोबारा सुनवाई में जुड़ गया और ‘लाल-लाल होठों पे गोरी किसका नाम है…’ गाना गाने लगा।

उसके बाद कोर्ट ने उसे दोबारा हटा दिया। फिर कोई दूसरा व्यक्ति गाना गुनगुनाने लगा ‘मेरी बन्नो की आएगी बारात…’। इस बार कोर्ट ने नाराजगी जताते हुए आईटी डिपार्टमेंट को गाना गुनगुनाने वाले व्यक्ति की पहचान करने और दिल्ली पुलिस को जरूरी कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

जस्टिस मिधा ने कोर्ट मास्टर को निर्देश दिया कि वो दिल्ली पुलिस को उस व्यक्ति का ब्योरा दें जिसने बीच सुनवाई में खलल डालने की कोशिश की। सुनवाई के दौरान कुछ लोग जूही चावला की फोटो मोबाइल पर प्रदर्शित करने लगे।

बता दें कि जूही चावला ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर 5जी मोबाइल को लांच करने से रोकने की मांग की है।

जूही चावला ने कहा है कि 5जी लांच होने से इससे होने वाली विकिरणें लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर डालेंगी। याचिका में कहा गया है कि 5 जी उपकरणों से रेडिएशन से लोगों के स्वास्थ्य के खराब होने की आशंका है।

जूही चावला ने इस पर एक अध्ययन के हवाले से कहा है कि ये तकनीक काफी नुकसानदायक है।

याचिका में कहा गया है कि ऐसा कोई अध्ययन नहीं किया गया है जो ये बता सके कि 5जी तकनीक मनुष्य के लिए सुरक्षित है। ऐसे में इस तकनीक को लांच करने से रोका जाए।

Back to top button