जमशेदपुर में टाटा लीज की जमीन पर पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के भाई-भतीजे का अवैध कब्जा, भवन समेत बिजली-पानी का कनेक्शन भी इलीगल

जमशेदपुर: झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के बड़े नेता रघुवर दास के भाई मूलचंद साहू व भतीजे कमलेश साहू पर सीतारामडेरा थाना क्षेत्र में टाटा लीज की जमीन पर अवैध कब्जा कर भवन बनाने का मामला सामने आया है।

इसका सत्यापन डीआईजी राजीव रंजन सिंह के नेतृत्व में टाटा लीज और सरकारी जमीन का अतिक्रमण कर अवैध रूप से निर्माण मामले की जांच एसआईटी ने कर दी है।

इस दौरान टीम ने सभी जगहों पर निर्माण को अवैध पाया है। वहीं, बिजली और पानी का कनेक्शन भी अवैध पाया गया।

ऐसे में जमीन पर अपना हक जतानेवालों को पुलिस ने कागजात के साथ थाना बुलाया है। इधर, अचानक जांच अभियान चलाए जाने से मूलचंद और कमलेश समर्थकों में अफरा-तफरी मच गई।

डीएसपी हेड क्वार्टर-1 पवन कुमार के निर्देश पर सीतारामडेरा पुलिस ने जांच अभियान चलाया।

विधायक सरयू राय ने डीजीपी से की थी कंप्लेन

मालूम हो कि विधायक सरयू राय ने डीजीपी एमवी राव से टाटा लीज की जमीन का अतिक्रमण कर अवैध रूप से भवन निर्माण करने की शिकायत की थी।

भाजपा नेता मूलचंद साहू और कमलेश साहू पर भी कई जमीन अतिक्रमण कर भवन बनाने की शिकायत की गई थी।

मूलचंद और कमलेश के अलावा भाजपा नेता अभय सिंह के खिलाफ भी साकची में एक जमीन पर अतिक्रमण की शिकायत की गई है।

वाशिंग सेंटर जमीन की भी जांच

भालूबासा स्थित हरिजन हाई स्कूल के पास वाशिंग सेंटर की जांच की। वाशिंग सेंटर कमलेश साहू की देखरेख में चलने की शिकायत मिली थी।

जांच में वहां दिव्यांश पिंटू यादव द्वारा वाशिंग सेंटर चलाए जाने की बात सामने आई। पूछताछ में उसने बताया की वाशिंग सेंटर उसके नाम पर है।

जांच रिपोर्ट डीएसपी को सौंपेंगे

सीतारामडेरा थाना प्रभारी अंजनी कुमार ने कहा है कि डीएसपी से मिले पत्र के अनुसार चार जगहों पर जांच की गई।

कमलेश साहू और मूलचंद साहू के खिलाफ जमीन पर अतिक्रमण कर अवैध मकान बनाने की शिकायत मिली थी।

चारों जगहों पर पुलिस ने जांच की। कुछ जगहों पर अवैध निर्माण पाए गए। वह जांच रिपोर्ट डीएसपी को सौंप देंगे।

टॉयलेट तोड़ बनाया कार्यालय, पुलिस को देख भागे

भालूबासा शीतला मंदिर के पास शौचालय बनाने के लिए सरकारी जमीन आवंटित हुई थी। परंतु जांच में वहां ऑफिस मिला।

पुलिस जब वहां जांच करने गई, तो ऑफिस में बैठा युवक वहां से भाग निकला। पुलिस जब कार्यालय में घुसी, तो अंदर का पंखा चल रहा था। उक्त कार्यालय में भाजपा के कई झंडे मिले।

आसपास के लोगों ने बताया कि कार्यालय में कमलेश साहू आते-जाते हैं। कार्यालय में पानी और बिजली का कनेक्शन भी अवैध पाया गया।

भवन मामले में दोनों पक्षों को कागजात लेकर थाने बुलाया

सीतारामडेरा थाना क्षेत्र में 4 जगहों पर जमीन का अतिक्रमण कर अवैध रूप से कार्यालय और बिल्डिंग बनाने की शिकायत मिली थी।

शिकायत के आधार पर पुलिस ने भालूबासा टीओपी के पास टाटा लीज की जमीन पर तीन मंजिला मकान बनाए जाने की जांच की।

वहां रह रहे मनोज सहिस ने बताया कि बिल्डर मोनी द्वारा उक्त भवन बनाया जा रहा है, जमीन उनकी है।

जबकि निर्माणाधीन भवन के पास सब्जी की दुकानें लगाने वाले धर्मचंद्र साव ने पुलिस के समक्ष कहा कि जमीन टाटा लीज की है। मूलचंद साहू द्वारा जमीन का अतिक्रमण कर यहां बिल्डिंग खड़ी की जा रही है।

मोनी को आगे रख मूलचंद द्वारा ही यहां बिल्डिंग का निर्माण कराया जा रहा है। धर्मचंद्र ने बताया उक्त जमीन पर पहले वे लोग रहते थे।

मूलचंद साहू द्वारा उन्हें मारपीट कर वहां से भगा दिया गया और उस जमीन पर कब्जा कर लिया गया। थाना प्रभारी ने दोनों पक्षों को जमीन से संबंधित कागजात लेकर थाना बुलाया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button