खूंटी जिले के सभी छह प्रखंडों में धान अधिप्राप्ति केंद्रों का उद्घाटन

खूंटी: जिले के सभी छह प्रखण्डों में बुधवार को धान अधिप्राप्ति केंद्रों का उद्घाटन किया गया।

तोरपा प्रखण्ड में तोरपा के विधायक कोचे मुंडा, अड़की प्रखण्ड में अनुमंडल पदाधिकारी हेमन्त सती व मुरहू प्रखण्ड में प्रखण्ड विकास पदाधिकारी प्रदीप भगत ने धान अधिप्राप्ति केंद्र का उद्घाटन किया।

मौके पर सम्बन्धित प्रखण्ड के प्रमुख एवं उप प्रमुख व अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

सभी प्रखंडों में धान अधिप्राप्ति केंद्र संचालित करने के लिए संबंधित कर्मियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए गए।

इस दौरान सभी पैक्सों में मशीनी उपकरण आदि की उपलब्धता का निरीक्षण किया गया। साथ ही निर्देश दिया गया कि कार्यों को उचित रूप से संचालित किया जाए।

ज्ञात हो कि न्यूनतम समर्थन मूल्य साधारण धान के लिए 1868.00 रुपये प्रति क्विंटल रखा गया है।

किसानों को धान बिक्री करने के लिए निबंधन करना आवश्यक है। जिन किसानों ने अब तक अपना निबंधन नहीं कराया है, वे अविलंब निबंधन करा लें।

खूंटी जिले में वर्ष 2020-21 में 5000 मैट्रिक टन धान खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

वहीं 3500 किसानों को निबंधित करने का लक्ष्य निर्धारित है। धान अधिप्राप्ति में रकबा के अुनसार लघु, सीमांत, मध्यम और वृहत किसानों की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।

प्राप्त आवेदन पत्रों के जांचोपरान्त किसानों का निबंधन कार्य पूर्ण किया जाएगा। निबंधित सभी किसानों के आवश्यक कागजात जिला आपूर्ति कार्यालय द्वारा ई-उपार्जन पोर्टल पर अपलोड किए जाएंगे।

निबंधन कराने के लिए उन्हें एक प्रपत्र जो खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण और उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा जारी किया गया, उसे भरना होगा, जिसमें उनकी समस्त विवरणी होगी।

इसके अलावा निबंधन के समय किसान को निर्धारित फोटोयुक्त वैध पहचान पत्र यथा आधार कार्ड संख्या , मोबाइल नंबर, बैंक खाता विवरणी, कृषि कार्य के लिए प्रयुक्त भूमि का रकबा, खाता संख्या एवं प्लाट संख्या आदि का विवरण देना होगा।

तोरपा में विधायक कोचे मुंडा ने कहा कि अधिप्राप्ति केंद्रों में धान देने वाले किसानों को समयानुसार भुगतान मिले, इसका प्रयास प्रशासन करे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button