JAC EXAM 2021 : सोशल मीडिया पर फूटा अभ्यर्थियों का गुस्सा, कहा- जब IPL के मैच दुबई मे हो सकते है, रातों रात E-Pass का वेबसाईट बन सकता हैं तो फिर हमारी परीक्षा online क्यों नहीं?

न्यूज़ अरोमा रांची: झारखंड एकेडमिक काउंसिल (JAC) से इस वर्ष आयोजित होने वाली 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा को रद्द करने का निर्णय लिया गया है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने यहां गुरुवार को कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए झारखंड एकेडमिक काउंसिल (JAC) से इस सत्र में आयोजित होने वाली 10वीं और 12वीं परीक्षा को रद्द करने का निर्णय लिया है।

परीक्षा कैंसल होने से स्टूडेंट में काफी नाराज़गी है, स्टूडेंट्स ने ट्विटर पर एक अभियान छेड़ दिया  है। की तरह के परीक्षा वाला पोस्टर भी वायरल हो रहा है।

स्टूडेंट्स ट्विटर पर तरह-तरह के सवाल काउंसिल और सरकार से कर रहे हैं, अभ्यर्थी चन्दन कुमार झा ने सोशल मीडिया लिखा है कि जब IPL के मैच दुबई मे हो सकते है, तो फिर हमारी परीक्षा online क्यों नहीं सकता, और तो और रातों रात E-Pass का वेबसाईट बन सकता हैं तो 10, 12वी का exam पोर्टल क्यों नहीं बन सकता हैं।

 अभ्यर्थी अभिशेक खंडेलवाल लिखते हैं, इससे मेधावी विद्यात्रियों का एक साल बर्बाद होगा।

कृप्या एक बार अपने राज्य में झांके की जिन बच्चो की सेहत का हवाला आप दे रहे उनमें से अधिकतर बिना covid के नियमो का पालन करते हुए सड़क पर भटकते मिलेंगे।

सोनी सिंह ने लिखा है कि आपने बोर्ड परीक्षाओं को रद्द तो कर ही दिया अब हमारे पैसे भी हमे लौटा दिया जाए जो हमने रजिस्ट्रेशन के वक्त दिया था।

एक अन्य ट्वीट के माध्यम से कहा जा रहा है कि ग़लत निर्णय है हेमंत सर,,इस खबर से भले ही बच्चे खुश हो जाएंगे लेकिन उनके भविष्य के साथ क्या होगा, ये तो सिर्फ एक टीचर ही जानता है, सफलता पाने के लिए परिक्षाओं की आवश्यकता होती है ,जब तब एग्जाम नहीं तब तक सफलता नहीं ,, मैं चाहता हूं इस पर दोबारा विचार किया जाए।

इस बीच स्टूडेंट्स मांफ कर रहे हैं कि परीक्षा ऑनलाइन मोड में आयोजित करें।

इससे पहले कोरोना संक्रमण के कारण CBSE, CISCE सहित कई राज्यों की 10वीं और 12वीं की परीक्षा रद्द होने के बाद यह तय माना जा रहा था कि जैक की परीक्षा भी रद्द हो जाएगी।

इसे लेकर छात्रों और उनके अभिभावकों की ओर से लगातार परीक्षा रद्द करने की मांग की जा रही थी।

जैक की इस साल 10वीं और 12वीं की परीक्षा में सात लाख 65 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं को शामिल होना था।

इसमें 10वीं बोर्ड की परीक्षा में 4.32 लाख और 12वीं बोर्ड की परीक्षा में 3.31 लाख परीक्षार्थी शामिल है।

परीक्षा नहीं होने की स्थिति में सरकार द्वारा निर्धारित मापदंड के अनुसार सभी परीक्षार्थियों का रिजल्ट जारी किया जाएगा।

इससे पहले जैक बोर्ड की ओर से 9वीं और 11वीं की परीक्षा को भी रद्द करते हुए सभी विद्यार्थियों को 10वीं और 12वीं में प्रोन्नत कर दिया गया था।

बताया गया है कि अभी जो विद्यार्थी 10वीं बोर्ड की परीक्षा में शामिल हो रहे हैं, उनकी कक्षा आठवीं और नौवीं की परीक्षा जैक ने ली है।

दोनों ही परीक्षा में बोर्ड परीक्षा की तरह ही प्रवेश पत्र जारी हुआ था।

इसी तरह से कक्षा 12वीं का रिजल्ट भी 10वीं और 11वीं के रिजल्ट के आधार पर लिया जा सकता है।

इस संबंध में जल्द ही जैक द्वारा निर्णय ले लिये जाने की संभावना है।

Back to top button