झारखंड : आठ बच्चों के पिता ने आठवीं क्लास की छात्रा से की कोर्ट मैरेज, देह व्यापार के लिए बनाया दबाव, थाना पहुंची पीड़िता

उसने आरोप लगाया है कि जब उसने देह व्यापार करने से इनकार कर दिया, तो उसके पति और ससुरालवालों द्वारा उसके साथ मारपीट की गयी

जामताड़ा : पति द्वारा देह व्यापार के लिए दबाव बनाये जाने का आरोप लगाते हुए एक विवाहिता सोमवार को जिले के करमाटांड़ थाना पहुंच गयी। उसने अपने पति और ससुरालवालों पर गंभीर आरोप लगाये हैं।

उसने आरोप लगाया है कि जब उसने देह व्यापार करने से इनकार कर दिया, तो उसके पति और ससुरालवालों द्वारा उसके साथ मारपीट की गयी, सिर मूंड़ दिया गया, करंट लगाया गया।

पलकों के बाल भी उखाड़ दिये गये। वह किसी तरह अपने ससुराल से भागकर करमाटांड़ थाना पहुंची और पुलिस को आपबीती बतायी।
पीड़िता ने बताया कि वह गोड्डा जिला के देवदाड़ की रहनेवाली है और कक्षा आठ की छात्रा है।

उसने बताया कि स्कूल आने-जाने के दौरान उसे पड़ोस में रहनेवाले मुस्तकीम नामक युवक से प्यार हो गया। मुस्तकीम ड्राइवर का काम करता है। उसने अपने घरवालों को बिना बताये मुस्तकीम से इसी साल जनवरी में कोर्ट मैरेज कर ली।

पीड़िता पुलिस को बताया कि शादी के बाद मुस्तकीम उसे करमाटांड़ बरमुंडी स्थित अपने पैतृक घर ले गया। जब वह अपने ससुराल पहुंची, तो उसे पता चला कि उसका पति मुस्तकीम पहले से ही शादीशुदा है और आठ बच्चों का पिता है।

पीड़िता ने बताया कि मुस्तकीम ने उससे झूठ कहा था कि वह अविवाहित है। खुद को अविवाहित बताकर ही मुस्तकीम ने उससे कोर्ट मैरेज की थी। पीड़िता ने बताया कि ससुराल में पहले दिन से ही उसे प्रताड़ित किया जाने लगा।

शादी के तीन महीने में ही बात इतनी बिगड़ गयी कि तलाक की नौबत आ गयी। हालांकि, पीड़िता के घरवालों और मुस्तकीम के घरवालों के बीच समझौता हो गया। पीड़िता के मुताबिक, उसके ससुरालवालों ने उसके पिता को 50 हजार रुपये देने का वादा करके इस मामले को सुलझाया था। पीड़िता का कहना है कि हालांकि उसके पिता को पैसे नहीं मिले।

बात फिर बिगड़ी, तो उसके बाद उसके पिता उसे अपने साथ अपने घर ले गये। उसके बाद पीड़िता अपने पिता के घर पर सात महीने तक रही और उसके बाद मुस्तकीम उसे फिर अपने घर ले गया।

पीड़िता का आरोप है कि मुस्तकीम उसे अपने घर तो ले गया, लेकिन वह उसके घरवाले उस पर देह व्यापार करने का दबाव बनाने लगे। वह नहीं मानी, तो उसके साथ मारपीट की गयी, उसका सिर मूंड़ दिया गया, करंट लगाकर उसे पीड़ा पहुंचायी गयी, उसके पलकों के बाल उखाड़ दिये गये।

इतना जुल्म झेलने के बाद उसने कई बार ससुराल से भागने की कोशिश की, लेकिन कामयाबी नहीं मिल पा रही थी। सोमवार को वह किसी तरह अपने ससुराल से भाग निकलने से कामयाब हो गयी और करमाटांड़ थाना पहुंच गयी।

इधर, करमाटांड़ थाना प्रभारी रोशन कुमार ने बताया कि लड़की ने उन्हें आपबीती सुनायी है। लड़की के पिता को सूचना दी गयी है। दोषियों को नहीं छोड़ा जायेगा। पीड़िता के पिता के आने के बाद पुलिस केस दर्ज करके मामले में अग्रतर कार्रवाई करेगी।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button