झारखंड : नाबालिग को अगवा कर महीने भर घर में रखा, यौन शोषण किया और फिर घर से भगा दिया

स्वजनों ने एसएसपी को लिखित रूप से मामले की जानकारी देते हुए इंसाफ दिलाने की गुहार लगाई है

जमशेदपुर: पोटका थाना क्षेत्र की एक नाबालिग को अगवा कर कथित प्रेमी द्वारा एक महीने तक घर में रखकर यौन शोषण करने और फिर अपने घर से भगा देने का घिनौना मामला सामने आया हैै।

इसके बाद नाबालिग वहां से पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर पहुंच गई, जहां वह चाइल्ड लाइन में है। जानकारी होने पर स्वजन दुर्गापुर पहुंचे, लेकिन उन्हें नाबालिग देने से इनकार कर दिया गया।

झारखंड : नाबालिग को अगवा कर महीने भर घर में रखा, यौन शोषण किया और फिर घर से भगा दिया

इसके बाद घर वालों ने एसएसपी को लिखित रूप से मामले की जानकारी देते हुए इंसाफ दिलाने की गुहार लगाई है।

क्या है मामला

नाबालिग के चाचा ने पुलिस को बताया कि नाबालिग कदमा में अपने मामा के घर पर रहती थी। पिछले 20 सितंबर को वह कदमा से पोटका अपने घर आने के लिए निकली थी, लेकिन वो घर नहीं पहुंची।

झारखंड : नाबालिग को अगवा कर महीने भर घर में रखा, यौन शोषण किया और फिर घर से भगा दिया

उसे खितिश भगत बहला.फुसलाकर ले गया। उसके घर पर भी परिजन गए थे। 27 अक्टूबर को नाबालिग को युवक ने घर से भी भगा दिया। 28 अक्टूबर को वह दुर्गापुर में मिली।

वहां की पुलिस ने उनलोगों को सूचित कर मामले की जानकारी दी। नाबालिग दुर्गापुर कैसे पहुंची। उसे कौन ले गया, इसकी जांच पुलिस कर रही है।

शादी की नियत से नाबालिग को भगाया, तीन पर एफआईआर

इधर, मानगो थाना क्षेत्र से शादी की नीयत से नाबालिग लड़की को भगा ले जाने की प्राथमिकी थाना में दर्ज कराई गई है।

मामले में आरोपी मानगो रोड नंबर एक का रहने वाला सिंटू, एहसान उर्फ राज और उलीडीह चूनाशाह कॉलोनी उत्तरलाइन निवासी लावा मैसी हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button