झारखंड

झारखंड शिक्षा परियोजना में बड़ा फर्जीवाड़ा आया सामने!, अफसरों के रहमोकरम पर चांदी काट रहा कार्यमुक्त किया गया पारा टीचर

पलामू: झारखंड शिक्षा परियोजना में एक बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है, जहां अफसरों के रहमोकरम पर दो साल पहले ही कार्यमुक्त किया जा चुका एक पारा टीचर आज भी ड्यूटी पर डटा हुआ है और टाइमली अपना मानदेय भी उठा रहा है।

हुसैनाबाद प्रखंड राजकीय मध्य विद्यालय पथरा के इस पारा टीचर कबिन्द्र कुमार पासवान की कंप्लेन दीपक कुमार सिंह ने झारखंड शिक्षा परियोजना रांची के शिक्षा सचिव को पत्र लिखकर की है। साथ ही मामले की जांच की भी गुहार लगाई है।

कार्य मुक्त किए जाने के बाद भी कर रहा ड्यूटी, उठा रहा मानदेय

आवेदन में दीपक कुमार सिंह ने लिखा है कि हुसैनाबाद प्रखंड राजकीय मध्य विद्यालय पथरा के कबिन्द्र कुमार पासवान पारा शिक्षक को लगभग 2 वर्ष पहले ही सेवा से कार्य मुक्त कर दिया गया था।

इसके बावजूद वह शिक्षक विद्यालय में कार्य कर रहा है। वहीं, मानदेय का भी भुगतान शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों द्वारा किया जा रहा, जो जांच का विषय है।

फर्जी तरीके से बहाली में पारा टीचर पर हुआ था एक्शन

उन्होंने आवेदन में कहा है कि मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र द्वारा उक्त पारा शिक्षक के ऊपर आरोप लगाया गया था कि कबिन्द कुमार पासवान पारा शिक्षक की बहाली बीए की योग्यता पर हुई थी, जबकि जांच के दौरान बीए का कोई प्रमाण पत्र बीआरसी कार्यालय में नही मिला।

उसे फर्जी तरीके से अधिकारियों द्वारा मोटी रकम लेकर बहाली किया गया है।

जांच में अधिकारियों ने यह आरोप भी सही पाया था। इसके बाद उसे कार्य मुक्त कर दिया गया था।

इसके बावजूद भी विद्यालय में उक्त पारा शिक्षक कैसे कार्य कर रहा है, इसकी जांच कर दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए।

Back to top button