झारखंड

पंचायत चुनाव : दुमका में नक्सल प्रभावित चार प्रखंडों में मतदान को लेकर प्रशासन अलर्ट

नक्सल प्रभावित क्षेत्र को देखते हुए यहां सुरक्षा के काफी इंतेजामात किए गए हैं

दुमका: पंचायत चुनाव (Panchayat Election) को लेकर प्रशासनिक तैयारी पूरी हो चुकी है।

दुमका के चार नक्सल प्रभावित प्रखंडों में पंचायत चुनाव के प्रथम चरण का मतदान 14 मई होना है।

नक्सल प्रभावित क्षेत्र को देखते हुए यहां सुरक्षा के काफी इंतेजामात किए गए हैं। जिले के रामगढ़, काठीकुंड, गोपीकांदर और शिकारीपाड़ा में प्रथम चरण का मतदान होना है।

नक्सल प्रभावित क्षेत्र के लिहाज से जिला प्रशासन भी तैयार है। संवेदनशील और अति संवदेनशील इलाकों के साथ-साथ सुदूरवर्ती बूथों में जवानों की तैनाती की गई है।

मतदान की तैयारियों को लेकर डीसी रवि शंकर शुक्ला ने बताया कि सुरक्षा के इंतजाम व्यापक हैं। उन्होंने मतदाताओं से अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करने का अपील किया है।

जिला के एसपी के साथ मिलकर सिक्योरिटी प्वाइंट पर काफी एक्सरसाइज की गयी है

उपायुक्त सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी रवि शंकर शुक्ला ने कहा कि पंचायत चुनाव 2022 के प्रथम चरण में शनिवार को मतदान होना है। इसके लिए पोलिंग पार्टी को बूथों तक रवाना किया जा रहा है।

मतदानकर्मी सही ढंग से पोलिंग बूथ तक पहुंचे इसके लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। उनके साथ सुरक्षा बल हैं। इसके अलावा बूथों पर भी जवानों की तैनाती की गई है।

इस चुनाव में जिला पुलिस बल, एसआईआरबी, एसएसबी के जवानों को ड्यूटी पर तैनात किया गया है।

पहले चरण के लिए नक्सल प्रभावित इलाकों में हो रहे मतदान के संबंध में उपायुक्त ने बताया कि चुनाव शांतिपूर्ण वातावरण में संपन्न हो इसके लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। जिला के एसपी के साथ मिलकर सिक्योरिटी प्वाइंट पर काफी एक्सरसाइज की गयी है।

उपायुक्त ने कहा कि हमारा प्रयास भयमुक्त वातावरण में शांतिपूर्ण और स्वच्छ चुनाव संपन्न कराने का है।

ऐसे में मतदाताओं से अपील कर रहे हैं कि लोकतंत्र के इस महापर्व में लोग बढ़-चढ़कर भाग लें और अपने मताधिकार का प्रयोग करें और अपने गांव की सरकार चुनें।