“बिहार की तर्ज पर झारखंड में भी पारा शिक्षकों के हित में नियमावली बने, वरना होगी आर-पार की लड़ाई”

विरोध प्रदर्शन को तेज करते हुए सरकार की नीतियों का पुरजोर विरोध किया जायेगा

हजारीबाग: पुराना कालीमंडा परिसर में रविवार को एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा इचाक की बैठक हुई।

इसमें जिला उपाध्यक्ष प्रदीप कुमार पांडेय, कैलाश मेहता बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए।

वक्ताओं ने कहा कि बिहार की तर्ज पर पारा शिक्षकों के हित में नियमावली नहीं बनी, तो एकीकृत पारा शिक्षक संघ आर-पार की लड़ाई लड़ने को मजबूर होगा।

वक्ताओं ने कहा कि सरकार 14 नवंबर से पहले बिहार की तर्ज पर नियमावली नहीं बनाती है, तो 15 नवंबर को राज्य के पारा शिक्षक रांची कूच करेंगे, जहां विरोध प्रदर्शन को तेज करते हुए सरकार की नीतियों का पुरजोर विरोध किया जायेगा।

बैठक की अध्यक्षता राजकुमार प्रसाद ने की, जबकि संचालन सचिव आनंद कुमार ने किया।

बैठक में कमल कुमार गुप्ता, प्रकाश कुमार शर्मा, मोहन राम, शिवनाथ कुमार सिंह, वीरेंद्र कुमार भारती, प्रमोद कुमार यादव, चंद्रिका सिंह, मनोज कुमार यादव, कृष्णा कुमार यादव, दिलीप राम, हलीमा सादिया, पुष्पा मिश्रा, नीलम कुमारी, राजेश उपाध्याय, परमात्मा कुमार के अलावा दर्जनों पारा शिक्षक-शिक्षिकाएं शामिल हुए।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button