झारखंड : प्यार, सजा और फिर एक-दूजे के हुए प्रेमी युगल

प्रेमी युगल रविवार को परिणय सूत्र में बंध गए, जहां जेल से छूटने के बाद प्रेमी ने शादी रचाई

पलामू: प्यार, सजा और फिर एक-दूजे के हुए प्रेमी युगल।

जी हां, सोहदाग खुर्द पंचायत में एक ऐसा ही मामला सामने आया है, जहां साल भर प्रेम प्रसंग के बाद शादी से इनकार करने के बाद प्रेमी को जेल की सजा हुई और फिर पंचायत की पहल पर युवक को जेल से छुड़वाकर उसके प्रेम को विवाह के सामाजिक बंधन में बांध दिया गया।

प्रेमी युगल रविवार को परिणय सूत्र में बंध गए, जहां जेल से छूटने के बाद प्रेमी ने शादी रचाई।

प्रेमी युगल रविवार को परिणय सूत्र में बंध गए, जहां जेल से छूटने के बाद प्रेमी ने शादी रचाई।

बघलवता गांव निवासी स्वण् भृगूनाथ सिंह के 21 वर्षीय पुत्र नगीना सिंह व सोहदाग खुर्द टोला लेदुका गांव निवासी पच्चू सिंह की 18 वर्षीया पुत्री सविता कुमारी रविवार को हिंदू रीति रिवाज व सामाजिक स्तर पर एक-दूजे के हो गए।

क्या है मामला

जानकारी के अनुसार, नगीना सिंह का साल भर से सविता कुमारी के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। लड़की पक्ष ने शादी करने के लिए पंचायत की थी।

झारखंड : प्यार, सजा और फिर एक-दूजे के हुए प्रेमी युगल

इसमें नगीना सिंह ने शादी करने से इनकार कर दिया। इसके बाद मामला नावा बाजार थाना पहुंचा और प्राथमिकी दर्ज करके नगीना सिंह को जेल भेज दिया गया।

इसके बाद मुखिया रक्षया यादव व ग्रामीणों की पहल पर दोनों पक्षों के बीच शादी की बात को लेकर समझौता हुआ। नगीना को जेल से छुड़वाया गया।

रक्षया यादव ने वर-वधु को अंग वस्त्र भी भेंट किया। मौके पर राजेंद्र चौधरी, रामचंद्र सिंह, बिहारी सिंह, रामराज यादव, अली शेर अंसारी, उप मुखिया पंकज साव, असगर अली, सत्यनारायण साव, सुदर्शन प्रसाद गुप्ता, पवन कुमार, नंदकुमार मिस्त्री, महेंद्र यादव, धर्मेंद्र कुमार, डाॅ विनोद सिंह आदि उपस्थित थे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button