झारखंड में पुलिस और उग्रवादियों में मुठभेड़, हथियार और भारी मात्रा में गाेलियां बरामद

न्यूज़ अरोमा चाईबासा: पश्चिमी सिंहभूम (चाईबासा) जिले के चक्रधरपुर अनुमण्डल के बंदगांव थाना क्षेत्र में पुलिस और पीएलएफआई उग्रवादियों के बीच शनिवार को मुठभेड़ हुई।

इस दौरान उग्रवादियों से कई हथियार बरामद किए गए हैं।एएसपी सह चक्रधरपुर के एसडीपीओ नाथु सिंह मीणा ने मुठभेड़ की पुष्टि की है।

बंदगांव थानाक्षेत्र के सिंदरीबेड़ा के मनमारु पहाड़ी में यह मुठभेड़ हुई है।

एएसपी नाथु सिंह मीणा के नेतृत्व में पीएलएफआई उग्रवादियों की खोज में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा था।

पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप और सब जोनल कमांडर अजय पूर्ती के खोज में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा था।

इसी दौरान पीएलएफआई उग्रवादियों ने मनमारु पहाड़ी में पुलिस व झारखण्ड जगुआर के जवानों पर फायरिंग कर दी।

पुलिस व झारखंड जगुआर के जवानों ने भी जवाबी फायरिंग की। दोनों ओर से इस दौरान सैकड़ों राउंड फायरिंग हुई।

पीएलएफआई उग्रवादियों की संख्या कम होने से वे जंगल का फायदा उठाकर भाग गए।

मुठभेड़ के बाद घटनास्थल से नक्सलियों के 09 हथियार और भारी मात्रा में गोलियां बरामद हुईं हैं।

घटना के बाद पुलिस का सर्च अभियान पूरे इलाके में चल रहा है।

इस संबंध में पुलिस प्रवक्ता सह आईजी अभियान साकेत कुमार सिंह ने बताया कि मुठभेड़ में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है।

कई हथियार बरामद किए गए हैं। इनमे एमएमजी सहित अन्य राइफल, पिस्टल, गोलियां सहित अन्य विस्फोटक शामिल हैं।

सर्च ऑपरेशन जारी है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button