रांची महानगर कांग्रेस ने पदयात्रा निकाल की कृषि कानून वापस लेने की मांगरांची महानगर कांग्रेस ने पदयात्रा निकाल की कृषि कानून वापस लेने की मांग

रांची: तीन काले कृषि कानूनों को वापस लेने के की मांग को लेकर रांची महानगर कांग्रेस अध्यक्ष संजय पांडेय के नेतृत्व में शनिवार को हरमू मैदान से लेकर डिबडीह मोड़ तक पदयात्रा निकाला गया।

पदयात्रा में विशिष्ट रूप से पदयात्रा के लिए झारखंड कांग्रेस द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षक जवाहरलाल सिन्हा एवं महेंद्र मिश्रा उपस्थित थे।

इसके पूर्व हरमू मैदान से पदयात्रा निकलकर डिबडीह मोड़ होते हुए भाजपा कार्यालय के समक्ष पहुंची। उत्साहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कृषि कानूनों के विरोध में भाजपा कार्यालय का घेराव एवं प्रदर्शन किया।

धरने पर बैठ गए तथा केंद्र से काले कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की।

वरीय कांग्रेसी नेताओं तथा प्रशासन के समझाने पर कार्यकर्ता धरने से उठ कर पदयात्रा कर पुनः हरमू मैदान पहुंचे। जहां एक सभा का आयोजन किया गया।

सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने केंद्र सरकार की निंदा करते हुए प्रधानमंत्री को तानाशाह का दर्जा दिया।

ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की नीति और नियत जनता को साफ-साफ दिखाई दे रही है। मोदी पूंजी पतियों की गोद में बैठ कर आम जनता के हितों के खिलाफ निर्णय ले रहे हैं।

जिसका खामियाजा उन्हें आने वाले समय में अवश्य भुगतना होगा।

जवाहरलाल सिन्हा एवं महेंद्र मिश्रा ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार कृषि कानूनों में बदलाव नहीं करती तब तक कांग्रेस किसानों के समर्थन में आंदोलन चलाती रहेगी।

केंद्र सरकार लगातार आम जनता तथा किसानों के हितों के खिलाफ निर्णय लेती जा रही है और जनता को इससे दूर रखने के लिए दूसरे मामलों में उलझाए रखने की कोशिश करती है लेकिन जनता उनकी इस चालाकी को भाँप चुकी है।

जनहित के निर्णय के विरोध कांग्रेसका आंदोलन लगातार जारी रहेगा।

महानगर अध्यक्ष संजय पांडेय ने कहा कि केंद्र सरकार की काली नीतियों के खिलाफ झारखंड प्रदेश कांग्रेस के निर्देशानुसार महानगर के कांग्रेसी कार्यकर्ता आगे भी चरणबद्ध आंदोलन करते रहेंगे।

पांडेय ने कहा कि मोदी और भाजपा ने हमेशा देश की जनता को बरगलाने का काम किया है।

अपने झूठे आश्वासनों के दम पर सत्ता में आई भाजपा पूंजीपतियों की दलाली कर रही है।

Back to top button