बोकारो की छात्रा रही बिहार की पहली मुस्लिम लड़की रजिया सुल्ताना बनीं DSP

रांची/पटना: रजिया सुल्ताना बिहार पुलिस में डायरेक्ट पुलिस उपाधिक्षक (DSP) बनने वाली पहली महिला हैं।

चार साल के लंबे इंतजार के बाद हाल ही जारी बिहार लोक संघ आयोग (BPSC) में रजिया ने यह उपलब्धि हासिल की है।

रजिया सुल्ताना मूलरूप से गोपालगंज जिले के हथुआ के रतनचक की रहने वाली हैं। बोकारो स्थित सिवनडीह निवासी रजिया के पिता मो. असलम अंसारी बोकारो स्टील प्लांट में कार्यरत थे।

उनका साल 2016 में इंतकाल हो चुका है। फिलहाल पूरा परिवार बोकारो में ही रह रहा है। उसकी माता गृहिणी है। रजिया सुल्ताना बोकारो की छात्रा रह चुकी हैं।

उन्होंने बोकारो पब्लिक स्कूल से पढाई की और बीपीएससी की 64वीं परीक्षा में सफल होकर डायरेक्ट डीएसपी पद पर चयनित होने का गौरव हासिल किया है।

रजिया ने बोकारो पब्लिक स्कूल में कक्षा- 1 से 12वीं तक की पढ़ाई पूरी की है। 2009 में मैट्रिक एवं 2011 में प्लस टू की परीक्षा पास की।

झारखंड की छात्रा रही बिहार की पहली मुस्लिम लड़की रजिया सुल्ताना बनीं डीएसपी

वर्तमान में जोधपुर से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कर 2017 से बिजली विभाग में सहायक अभियन्ता के पद पर कार्यरत है।

रजिया प्रारंभिक कक्षा से ही पढ़ाई में काफी तेज थी तथा अपनी कक्षा में हमेशा प्रथम स्थान प्राप्त करती थी।

उसने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने विद्यालय के गुरुजनों को दिया है, जिन्होंने प्रारंभिक शिक्षा से लेकर 12वीं तक उसका मार्गदर्शन किया। इन दिनों वह पटना में है।

रजिया के बोकारो आने पर बोकारो पब्लिक स्कूल परिवार उसे इस उपलब्धि के लिए सम्मानित करेगी।

रजिया बताती हैं कि वे वर्तमान में बिजली विभाग में सहायक ​अभियंता पद पर कार्यरत हैं। नौकरी के साथ बीपीएससी की तैयारी की थी, मगर दिक्कत यह आई कि पटना में बीपीएससी की कोचिंग हिंदी में होती है, जिसमें वे सहज नहीं थी।

ऐसे में घर पर खुद ही अंग्रेजी माध्यम से तैयारी की। पहले प्रयास में सफल हो गईं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button