Uncategorized

शेयर बाजार में जबरदस्त गिरावट, सेंसेक्स 1,456 अंक गिरावट के साथ हुआ बंद

इसके कारण दिन के कारोबार के दौरान शेयर बाजार 3 प्रतिशत तक गिर गया

नई दिल्ली: निराशाजनक ग्लोबल संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजार (Share Market) सोमवार को जबरदस्त गिरावट का शिकार होकर बंद हुआ।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज दोनों जगहों पर आज भारी बिकवाली का माहौल बना रहा। इसके कारण दिन के कारोबार के दौरान शेयर बाजार 3 प्रतिशत तक गिर गया।

हालांकि बाद में घरेलू संस्थागत निवेशकों (DII) ने खरीदारी करके बाजार की स्थिति में कुछ सुधार लाने की कोशिश जरूर की। इसके बावजूद भारतीय बाजार 2.6 प्रतिशत से अधिक की गिरावट के साथ ही बंद हुए।

आज दिन भर के कारोबार के दौरान बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (Bombay Stock Exchange) के सभी सेक्टरोरल इंडेक्सों में गिरावट का रुख बना रहा। मेटल, बैंकिंग और आईटी सेक्टर के शेयरों में जोरदार बिकवाली देखी गई।

फार्मास्यूटिकल्स, रियल्टी और ऑटो सेक्टर में भी गिरावट का रुख बना रहा। बाजार में हुई चौतरफा बिकवाली के कारण बीएसई का सेंसेक्स दिन के कारोबार के दौरान 1,776.36 अंक तक और एनएसई का निफ्टी 517.80 अंक तक लुढ़क गया।

हालांकि आखिरी 1 घंटे के कारोबार में हुई खरीदारी के कारण निफ्टी और सेंसेक्स दोनों सूचकांक आज के निचले स्तर से कुछ रिकवरी करने में सफल रहे।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स आज अंतरराष्ट्रीय बाजार के दबाव की वजह से 1,118.83 अंक की कमजोरी के साथ 53,184.61 अंक के स्तर पर खुला।

बाजार में बिकवाली का दबाव एक बार फिर बढ़ा दिया

कारोबार की शुरुआत होते ही बाजार में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) ने भारतीय बाजार से अपना पैसा निकालने के चक्कर में चौतरफा बिकवाली शुरू कर दी।

बिकवाली के इस जबरदस्त दबाव की वजह से सेंसेक्स तेजी से नीचे की ओर से फिसलने लगा। शुरुआती आधे घंटे के कारोबार में ही सेंसेक्स गिरकर 52,800.73 अंक तक पहुंच गया था।

इस गिरावट के बाद घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने लिवाली करके शेयर बाजार को संभालने की कोशिश की, जिसके कारण सेंसेक्स की स्थिति में अगले 10 मिनट तक कुछ सुधार होता हुआ नजर आया।

उसके बाद विदेशी निवेशकों ने बाजार में बिकवाली का दबाव एक बार फिर बढ़ा दिया, जिसके कारण सेंसेक्स दोबारा गोता लगाने के लिए मजबूर हो गया।

जोरदार बिकवाली के कारण सुबह 10 बजे के थोड़ी देर बाद ही सेंसेक्स 1,568.46 अंक की गिरावट के साथ 52,734.98 अंक के स्तर पर पहुंच गया था।

हालांकि इस स्तर पर हुई मामूली खरीदारी के कारण सेंसेक्स की स्थिति में मामूली सुधार भी हुआ।

बाजार में दोपहर 11:30 बजे तक खरीदारी का मामूली जोर बना रहा, जिसके कारण सेंसेक्स की स्थिति में भी कुछ सुधार के संकेत मिलने लगे लेकिन 11:30 बजे के बाद विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने भारतीय बाजार से अपना पैसा निकालने के चक्कर में एक बार फिर जोरदार बिकवाली शुरू कर दी।

बिकवाली के जोरदार दबाव की वजह से दोपहर 2 बजे तक सेंसेक्स (Sensex) 1,776.36 अंक का गोता लगाकर आज के सबसे निचले स्तर 52,527.08 अंक तक पहुंच गया।

कारोबार के आखिरी 1 घंटे के दौरान घरेलू संस्थागत निवेशकों ने बाजार को संभालने के लिए तेज खरीदारी शुरू की, जिसके कारण सेंसेक्स की स्थिति में भी कुछ सुधार हुआ और इस सूचकांक ने आज के निचले स्तर से करीब 320 अंक की रिकवरी करके 1,456.74 अंक यानी 2.68 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 52,846.70 अंक के स्तर पर आज के कारोबार का अंत किया।

सेंसेक्स की तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी ने 324.25 अंक की कमजोरी के साथ 15,877.55 अंक के स्तर से आज के कारोबार की शुरुआत की

शुरुआती कारोबार में ही विदेशी निवेशकों की ओर से बिकवाली का दबाव बना दिए जाने के कारण निफ्टी भी पहले आधे घंटे के कारोबार में ही गिरकर 15,772.10 अंक के स्तर पर पहुंच गया।

इस स्तर पर बाजार में हुई खरीदारी से निफ्टी की स्थिति में भी मामूली सुधार हुआ। बाजार में खरीदारी का यह दौर अगले करीब 1 घंटे तक जारी रहा, जिसके कारण निफ्टी भी मजबूत होकर एक 15,811.35 अंक के स्तर तक पहुंच गया।

लेकिन विदेशी निवेशकों ने बाजार में एक बार फिर बिकवाली का दबाव बना दिया, जिसके बाद निफ्टी लगातार लुढ़कता चला गया।

बिकवाली के दबाव की वजह से दोपहर 2 बजे तक ये सूचकांक 517.80 अंक की गिरावट के साथ आज के सबसे निचले स्तर 15,684 अंक तक पहुंच गया।

बाजार में आई करीब 3 प्रतिशत की गिरावट के बाद घरेलू संस्थागत निवेशकों ने एक बार फिर मोर्चा संभाला, जिसकी वजह से निफ्टी आज के निचले स्तर से 90.40 अंक की रिकवरी करके 427.40 अंक यानी 2.64 प्रतिशत की गिरावट के साथ 15774.40 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

आज दिन भर के कारोबार में सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में से सिर्फ एक शेयर नेस्ले इंडिया 0.52 प्रतिशत की बढ़त बनाकर हरे निशान में बंद होने में सफल रहा।

इसके अलावा सेंसेक्स में शामिल 29 अन्य शेयर बिकवाली के दबाव में फंस कर लाल निशान में बंद हुए। इसी तरह निफ्टी के सभी 11 सेक्टोरल इंडेक्स गिरावट के साथ बंद हुए। आईटी इंडेक्स में सबसे ज्यादा 4.12 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई।

इसके अलावा बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज, मेटल, रियल्टी, मीडिया और प्राइवेट बैंक सेक्टर भी 3 प्रतिशत से अधिक की गिरावट के साथ बंद हुए।

ऑटो इंडेक्स (Auto index) में 2 प्रतिशत, फार्मास्यूटिकल इंडेक्स में 1.83 प्रतिशत और एफएमसीजी इंडेक्स में 0.94 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई।

आज दिन भर हुई खरीद बिक्री के बाद दिग्गज शेयरों में से नेस्ले 0.47 प्रतिशत और बजाज ऑटो 0.01 प्रतिशत की मजबूती के साथ गेनर्स की सूची में अपना नाम शामिल कराने में सफल रहे।

बजाज फिनसर्व (Bajaj Finserv) 7.08 प्रतिशत, बजाज फाइनेंस 5.46 प्रतिशत, इंडसइंड बैंक 5.23 प्रतिशत, टेक महिंद्रा 5.22 प्रतिशत और हिंडाल्को इंडस्ट्रीज 5 प्रतिशत की कमजोरी के साथ आज के टॉप 5 लूजर की सूची में शामिल हुए।