झारखंड

राज्यपाल से मिले राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष

आयोग के अध्यक्ष ने खाद्य आयोग द्वारा 18 जुलाई से जिले में संवाद, जन सुनवाई, मुखिया से सीधा संवाद और औचक निरीक्षण की पहल की जानकारी दी

रांची: झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस (Ramesh Bais) से राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष हिमांशु शेखर चौधरी और आयोग की सदस्य शबनम परवीन ने बुधवार को राजभवन में मुलाकात की।

दोनों ने राज्य खाद्य आयोग के अब तक किये गये प्रयासों और कार्यों की विस्तृत जानकारी राज्यपाल को दी।

आयोग के अध्यक्ष ने खाद्य आयोग द्वारा 18 जुलाई से जिले में संवाद, जन सुनवाई, मुखिया से सीधा संवाद और औचक निरीक्षण की पहल की जानकारी दी।

आयोग पलामू (Palamu) जिले से इस पहल की शुरुआत करने जा रहा है। राज्यपाल ने झारखंड राज्य खाद्य आयोग के अब तक किये गये कार्यों और नई पहल की सराहना करते हुए आश्वस्त किया कि आयोग को उनका मार्गदर्शन सदैव मिलता रहेगा।

राज्यपाल (Governor) ने निर्देश दिया कि वे जिले में अपने कार्यक्रम के दौरान आंगनबाड़ी केंद्रों के संचालन पर विशेष नजर रखें और इस बात की तहकीकात करें कि आंगनबाड़ी केंद्रों का अपना भवन है अथवा नहीं।

राज्यपाल ने जांच का दिया निर्देश

पेयजल की समुचित व्यवस्था है अथवा नहीं। महिलाओं और बच्चों को पर्याप्त पोषण आहार दिया जा रहा है या नहीं।

राज्यपाल ने यह निर्देश भी दिया कि विद्यालयों में उपलब्ध कराये जा रहे मध्याह्न भोजन की गुणवत्ता की भी औचक निरीक्षण के दौरान जांच करें।

साथ ही यह भी देखें कि मध्याह्न भोजन (Midday meal) के लिये निर्धारित मेन्यू क्या है और बच्चों को मध्याह्न भोजन मेन्यू के अनुसार दिया जा रहा है या नहीं।

राज्यपाल ने राज्य खाद्य आयोग (state food commission) के अध्यक्ष को निर्देश दिया कि वे पलामू जिले के प्रवास के दौरान राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम- 2013 से आच्छादित योजनाओं की धरातल पर क्या स्थिति है, उसका विस्तृत प्रतिवेदन दौरे के बाद समर्पित करें।