झारखंड : थाने में युवक को दी ‘थर्ड डिग्री’, पूछताछ के लिए ले गई थी थाने, परिवार में खौफ

धनबाद : जिले के निरसा के गलफरबाड़ी ओपी प्रभारी ने डकैती के एक मामले में पूछताछ के दौरान एक युवक को इस कदर मारा-पीटा कि उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।

पीड़ित युवक और उसका परिवार रो-रो कर इन्साफ की भीख मांग रहा है। साथ ही पुलिस के खौफ से पूरा परिवार डरा हुआ है।

पीड़ित की बहन का कहना है कि पुलिस सही दिशा में कार्रवाई करने के बजाय निर्दोष के साथ मारपीट एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रही है।

उसने कहा कि उसके भाई की संगत कुछ गलत लड़कों के साथ हो गई थी लेकिन उसका भाई चोरी नहीं कर सकता। अगर उसका भाई चोरी करता तो वह दूसरे के घरों में झूठे बर्तन नहीं धोती।

उसने कहा कि पुलिस जब उनके घर आई तो उन्होंने पुलिस को पूरा सहयोग करते हुए पूरे घर की तलाशी करवाई।

उसने कहा कि जब घर में कुछ नहीं मिला तो पुलिस पूछताछ के लिए उसके भाई को ओपी ले गई। पूछताछ की जगह उसके भाई को जानवरों की तरह मारा गया, जिससे उसकी हालत बहुत ही खराब हो गई।

उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। साथ ही कहा कि आज तक किसी भी थाने या ओपी में उसके भाई के ऊपर कोई भी शिकायत दर्ज नहीं हुई है।

इस संबंध में निरसा डीएसपी विजय कुमार कुशवाह से पूछा गया तो उन्होंने पीड़ित की बहन द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को निराधार एवं झूठा बताया।

साथ ही कहा कि इसके बावजूद भी वह इस शिकायत पर जांच करेंगे। अगर शिकायत में कुछ सच्चाई सामने आती है तो निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button