झारखंड में यहां 9 दिनों से धरना प्रदर्शन कर रहा व्यवसायी निकला कोरोना पाॅजिटिव, प्रशासन के फूले हाथ-पांव

खुले आसमान के नीचे दिन-रात धरना

गिरिडीह: जिला प्रशासन की मुश्किलें शुक्रवार की रात उस समय बढ़ गई जब विभिन्न मांगों को लेकर बेमियादी धरना पर बैठे व्यवसायी सह सोशल वर्कर कुंजलाल साव कोरोना पाजिटिव पाए गए।

इसके बाद जिला प्रशासन के साथ ही स्वास्थ्य विभाग भी रेस हो गया। उन्हें तत्काल बगोदर सीएचसी में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है।

बता दें कि गिरिडीह में सर्दी काफी बढ़ गई है। लोग ठंड से बचने के लिए घरों से कम निकल रहे हैं। साथ ही अलाव का सहारा ले रहे हैं।

खुले आसमान के नीचे दिन-रात धरना

इधर, कुंजलाल अपनी मांगों को लेकर खुले आसमान के नीचे पिछले 9 दिनों से दिन.रात धरने पर बैठे थे, लेकिन प्रशासन की ओर से धरना खत्म कराने की ठोस पहल नहीं की गई।

कुंजलाल साव ने कहा कि उप विकास आयुक्त के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए बगोदर थाने में ऑनलाइन आवेदन दिया था, लेकिन एफआईआर नंबर तक नहीं मिला है।

उन्होंने यह भी कहा है कि मामला दर्ज नहीं हुआ है तो प्रशासन एफआईआर दर्ज करने वाले सक्षम अधिकारी के नाम बताए। एफआईआर के बाद अनुसंधान में आरोप गलत साहिब हुआ तो मेरे विरुद्ध भी कार्रवाई की जाए।

क्या है मामला

कुंजलाल ने कहा है कि यह मामला बगोदर बस स्टैंड स्थित मॉर्केट कॉम्प्लेक्स की एक दुकान से जुड़ा है। दुकान के आवंटन करने के बाद तत्काल आवंटन रद्द कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि जब तक हमारी मांग पूरी नहीं होती, आंदोलन करते रहेंगे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button