झारखंड में यहां BJP नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज, पंजाब में PM मोदी का रास्ता रोके जाने के खिलाफ किया था प्रदर्शन

आपदा प्रबंधन के नियम नहीं मानने का आरोप लगाया है

जमशेदपुर: पंजाब में पीएम नरेन्द्र मोदी का रास्ता रोके जाने का मामला शांत होता नजर नहीं आ रहा है। बीजेपी कार्यकर्ता पंजाब की कांग्रेस सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

इसी क्रम में जिले के साकची थाना क्षेत्र में करीब 15-20 बीजेपी नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, जिनके खिलाफ आपदा प्रबंधन के नियमों का उल्लंघन करने का आरोप लगा है,

उनमें बीजेपी नेता अभय सिंह, देवेन्द्र सिंह, रीता मिश्रा, चंद्रशेखर मिश्रा, डॉण् राजीव कुमार, गुंजन यादव, दिनेश कुमार, सुधांशु ओझा, संजीव सिन्हा, बारी मुर्मू, बबुआ सिंह, अनिल मोदी, मंजीत सिंह, नीलू मछुआ समेत अन्य 15-20 नेताओं को नाम शामिल हैं।

यह मामला पंजाब में पीएम नरेन्द्र मोदी का रास्ते जाम किए जाने और सरकार द्वारा उन्हें उचित सुरक्षा नहीं दिए जाने के खिलाफ पुतला जलाए जाने वाली घटना से संबंधित है।

इसमें आपदा प्रबंधन के नियम नहीं मानने का आरोप लगाया है। केस जेएनएसी साकची के सिटी मैनेजर जॉय गुड़िया ने दर्ज कराया है।

क्या है मामला

साकची के सिटी मैनेजर जॉय गुड़िया द्वारा दर्ज कराई गई प्राथमिकी में बताया गया है कि साकची क्षेत्र में कोरोना महामारी को देखते हुए मजिस्ट्रेट के रूप में जॉय गुड़िया की पदस्थाना की गयी है।

12 जनवरी को करीब दोपहर 11:30 बजे सूचना प्राप्त हुई कि भारतीय जनता पार्टी कार्यलय साकची के पास भारतीय जनता पार्टी के कई नेता एवं कार्यकर्ता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पंजाब में रैली के दौरान हुई कथित चूक के विरोध में मानव शृंखला बनाने की योजना है।

जब बंगाल क्लब से जुबली पार्क गेट जाने वाले रोड में भाजपा कार्यालय के पास पहुंचा तो देखा कि कई नेता एवं कार्यकर्ता अपने हाथों में बैनर ले कर एक जगह एकत्रित हो कर विरोध कर रहे थे।

इनमें से कई लोग बिना हैंड ग्लब्स एवं बिना सामाजिक दूरी का पालन किये प्रदर्शन कर रहे थे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button