झारखंड : मुठभेड़ में नदी और जंगल का फायदा उठाकर सामान छोड़ भागे नक्सली

खूंटी: रनिया थाना और पश्चिमी सिंहभूम जिले के बंदगांव थाना के सीमावर्ती क्षेत्र जतरना गांव (गदड़ी थाना) के पास रविवार को प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया(पीएलएफआइ) और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हो गयी।

पर पुलिस को भारी पड़ता देख उग्रवादी जंगल और नदी का लाभ उठाकर सामान छोड़कर भाग निकले।

इस संबंध में आशुतोष शेखर ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि रनिया और बंदगांव थाना के सीमावर्ती क्षेत्र में पीएलएफआइ के उग्रवादी भ्रमणशील हैं।

सूचना के आलोक में खूंटी और चाईबासा जिला पुलिस बल, सीआरपीएफ 94 बटालियन और सीआरपीएफ 60 बटालियन और झारखंड जबुआर के पुलिस अधिकारियों और कर्मियों को मिलाकर संयुक्त अभियान दल का गठन किया गया।

रविवार को तड़के जैसे ही पुलिस दल जतरना जंगल के पास पहुंची, पीएलएफआइ उग्रवादियों ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाकर फायरिंग शुरू कर दी।

पुलिस ने भी आत्मरक्षार्थ गोलियां चलायी। पुलिस को भारी पड़ता देख उग्रवादी सामान छोड़कर जंगलों में भाग निकले।

ये सामान किये गये बरामद

मुठभेड़ के बाद पुलिस द्वारा चलाये गये सर्च अभियान के दौरान एक पिस्टल, एक देसी कट्टा, मैगजीन पाउच, दूरबीन, वायरलेस सेट, पिठ्ठू बैग, 21 मोबाइल, चार्जर, पावर बैंक, नक्सली पर्चे और चंदा रसीद, चटाई, खुखरी, जमीन के कागजात, कुल्हाड़ी आदि बरामद किये गये।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button