NEET पेपर लीक मामले में अब चर्चा में आया हजारीबाग, बिहार की EOU टीम…

Digital Desk

NEET Paper Leak : शनिवार को NEET पेपर लीक (Paper Leak) मामले में झारखंड (Jharkhand) का हजारीबाग (Hazaribagh) चर्चा में आ गया है।

पटना (Patna) में NEET पेपर के जले बुकलेट (Booklet) बरामद हुए हैं। इनके हजारीबाग सेंटर (Hazaribagh Centre) से लीक होने की आशंका को लेकर बिहार इकोनामिक ऑफेंस यूनिट यानी आर्थिक अपराध इकाई (EOU ) की तीन सदस्यीय टीम हजारीबाग पहुंची।

हजारीबाग के सदर SDPO कुमार शिवाशीष ने बताया कि बिहार आर्थिक अपराध इकाई की टीम शुक्रवार को पहुंची थी।

टीम में तीन सदस्य शामिल थे। उन्होंने अनुसंधान के क्रम में तीन चार जगहों पर पूछताछ की। हालांकि इस संबंध में कोई जानकारी शेयर नहीं की।

हजारीबाग में NEET की परीक्षा के लिए पांच सेंटर

बता दें कि हजारीबाग में इस बार NEET की परीक्षा के लिए पांच सेंटर बनाए गए थे।

इनमें लोहसिंघना थाना क्षेत्र स्थित ओएसिस स्कूल नया सेंटर के रूप शामिल हुआ था। अन्य स्कूलों में डीएवी, संतजेवियर्स, रामकृष्ण विवेकानंद और हॉलीक्रॉस थे।

DAV से इस बार 840 विद्यार्थियों ने NEET की परीक्षा दी। इस स्कूल में 2022 से जब से परीक्षा हो रही है, तब से नीट की परीक्षा ली जा रही है।

केंद्र के प्राचार्य से की गई पूछताछ

बिहार से आई आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने प्राचार्य से फोन करके डिजिटल लॉक के बारे में पूछा। पूछा कि प्रश्न पत्र का डिजिटल लॉक कैसे खुला।

प्राचार्या ने बताया कि पूरे भारत में डिजिटल लॉक नहीं खुलने की शिकायत थी। ऐसे में वरीय अधिकारी से आदेश लेकर डिजिटल लॉक तोड़ा गया।

हालांकि इसमें भी पूरी सुरक्षा को ध्यान में रखा गया। वहीं रामकृष्ण विवेकानंद की प्रबंध समिति ने बताया कि इस संबंध में कोई पूछताछ नहीं की गई है। टीम हजारीबाग से सीधे रांची चली गई।

इस बीच टीम के लोगों ने मीडिया से दूरी बनाकर रखी। सूत्र के अनुसार ट्रांसपोर्टिंग के दौरान प्रश्न पत्र लीकेज की आशंका है। वैसे कई कोचिंग संचालक और ट्रांसपोर्टर इस नेक्सेस में शामिल होने की भी टीम को भनक है।

हमें Follow करें!

x